हेमंत सोरेन अपने को चतुर और जनता को बेवकूफ समझते है: बाबूलाल मरांडी

0
झारखंड के विकास के लिए हेमंत सरकार को उखाड़ फेंकने का लें संकल्प
 RANCHI: भाजपा प्रदेश अध्यक्ष एवम पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी ने आज संकल्प यात्रा को सिमरिया में संबोधित किया। अपने तीखे अंदाज में उन्होंने राज्य के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन पर जमकर हमला बोला।
श्री मरांडी ने कहा हेमंत सोरेन के नेतृत्व में राज्य में ठगबंधन की सरकार पिछले लगभग 4 वर्षों से चल रही जो 24 घंटे जनता को ठग रही।
उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री खुद को चतुर और जनता को बेवकूफ समझते हैं।
श्री मरांडी ने कहा कि विज्ञापन पर विज्ञापन निकलता रहा ,कई नियुक्ति वर्ष बीत गए लेकिन बेरोजगार युवाओं को न नौकरी मिली और न बेरोजगारी भत्ता।
कहा कि पिछड़ा वर्ग को भी हेमंत सोरेन ने खूब ठगा। कहा पिछड़ों के आरक्षण की बड़ी बड़ी बातें करने वाले मुख्यमंत्री ने बिना पिछड़ों के आरक्षण के पंचायत चुनाव करा दिए।
और निकाय चुनाव की बारी आई तो ट्रिपल टेस्ट कराने से भाग रहे। न्यायालय के निर्देश के बावजूद अबतक ट्रिपल टेस्ट का कार्य शुरू नहीं हुआ। पिछड़ा वर्ग आयोग से कराने की बात कही लेकिन अबतक आयोग के अध्यक्ष कौन हैं यही नहीं पता।
कहा इनकी नीति और नीयत में खोट है। ये केवल दिग्भ्रमित करते हैं जनता की भलाई से इनका कुछ भी लेना देना नही।
कहा कि हेमंत सरकार नीति भी ऐसी बनाती है जो न्यायालय में जाकर फंस जाए और फिर विपक्ष पर दोष देकर अपना चेहरा बचाने की कोशिश करते हैं। इसलिए जनता इनकी सारी चालाकी समझ चुकी है।
उन्होंने कहा कि झामुमो ,कांग्रेस राजद ने जनता की सेवा केलिए सरकार बनाई ही नही।इनका मकसद राज्य के संसाधनों को लूटना और लुटवाना है जिसमे ये पूरी तरह जुटे हैं।
उन्होंने कहा कि आज राज्य के कोयला ,लोहा,पत्थर, बालू की लूट हो रही। झारखंड लोगों को बालू नही मिल रहा।गरीब अपना प्रधानमंत्री आवास नही बना पा रहे।
आदिवासियों दलितों,गरीबों की जमीन दलाल,बिचौलिए लूट रहे। मुख्यमंत्री और उनके परिवार ने गरीबों की जमीन औने पौने  दाम पर लूटी है।
कहा कि हेमंत सोरेन परिवार महाजन प्रथा का विरोध करते करते खुद सबसे बड़ा महाजन बन गया।
कहा कि किसी भी योजना में मोदी सरकार गरीबों को उजाडती नही  बल्कि केंद्र सरकार गरीबों को बसाती है।पक्के मकान देती है,शौचालय और बिजली देती है। गैस सिलेंडर और चूल्हा भी देती है।
उन्होंने कहा कि जब जांच एजेंसियां लूट की जांच कर रही तो मुख्यमंत्री अपराधियों भ्रष्टाचारियों को बचाने में जुटे है। न्यायालय में महंगे वकीलों पर करोड़ों खर्च कर रहे।
इससे स्पष्ट हो चुका है कि मुख्यमंत्री भ्रष्टाचारियों के संरक्षक हैं।
उन्होंने कहा कि अगर मुख्यमंत्री निर्दोष हैं तो ईडी की पूछताछ से क्यों भाग रहे। जाकर सबकुछ साफ साफ क्यों नहीं बता देते।
आज की जनसभा में सांसद सुनील सिंह,विधायक किशुन दास,जिला अध्यक्ष अशोक  शर्मा,प्रदेश सह मीडिया प्रभारी योगेंद्र प्रताप सिंह आदि उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed