एस्टेरॉयड बेनू पृथ्वी के लिए संकट बन सकता है – नासा

0

अंतरिक्ष से धरती के लिए एक बड़ा संकट आ रहा है, जिस पर NASA ने अपनी चिंता व्यक्त की है। इस संकट का नाम है एस्टेरॉयड बेनू (Asteroid Bennu) है, जिसे लेकर नासा का कहना है कि यह विशालकाय एस्टेरॉयड भविष्य में पृथ्वी से टकरा सकता है।

इससे जुड़ी एक रिपोर्ट के मुताबिक ये तेजी के साथ धरती की तरफ बढ़ रहा है। ये विशालकाय खतरा करीब 4 करोड़ वर्षों से भी ज्यादा वक्त पुराना है। नासा के अनुसार साल 1999 में खोजा गया एस्टेरॉयड बेनू 159 सालों में पृथ्वी से टकरा सकता है।

एम्पायर स्टेट बिल्डिंग से भी बड़ा

NASA की OSIRIS-REx यानी ओरिजिन्स, स्पेक्ट्रल इंटरप्रिटेशन, रिसोर्स आइडेंटिफिकेशन एंड सिक्युरिटी-रिगोलिथ एक्सप्लोरर टीम के मुताबिक एस्टेरॉयड बेनू 2182 में पृथ्वी से टकरा सकता है। वहीं इस विशाल क्षुद्रग्रह की बात करें तो इसका आकार न्यूयॉर्क की एम्पायर स्टेट बिल्डिंग से भी बड़ा बताया जा रहा है।

आज से करीब 159 सालों के बाद धरती से टकराने वाला एस्टेरॉयड बेनू को लेकर एक खास बात भी है। एजेंसी ने कहा है कि बेनू हर 6 साल में पृथ्वी के पास से गुजरता है। यह वर्ष 1999, 2005 और 2011 में पृथ्वी के बेहद करीब से गुजर चुका है।

नासा के वैज्ञानिकों ने बताया कि बेनू के पृथ्वी से टकराने की आशंका सिर्फ 0.037 फीसदी है। वैज्ञानिकों के मुताबिक अगर बेनू पृथ्वी से टकराता है तो इससे 1200 मेगाटन ऊर्जा निकल सकती है। यह ऊर्जा अब तक के किसी भी परमाणु हथियार से 24 गुना ज्यादा घातक होगी। इसके साथ ही कहा जा रहा है कि बेनू में कुछ ऐसे आर्गोनिक अणुओं की मौजूदगी की भी संभावना है, जो पृथ्वी पर जीवन प्रदान कर सकते हैं।

क्षुद्रग्रह 1999 RQ36 की वास्तविक पहचान

नासा के मुताबिक इस क्षुद्रग्रह की असली पहचान 1999 RQ36 है। इसकी खोज वर्ष 1999 में की गई थी। नासा का अनुमान है कि यह क्षुद्रग्रह 24 सितंबर 2182 को पृथ्वी से टकरा सकता है। इस क्षुद्रग्रह की टक्कर से पृथ्वी पर बड़ी तबाही हो सकती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed