राज्य का हर व्यक्ति सरकार के गलत निर्णयों से दुःखी है : सुदेश महतो

0

पलायन शौक नहीं मजबूरी, इसे दूर करने के लिए शिक्षा जरूरी

 आजसू पार्टी का गुमला विधानसभा स्तरीय सम्मेलन सम्पन्न, सैकड़ों जनप्रतिनिधियों ने थामा पार्टी का दामन

RANCHI: आज राज्य का हर व्यक्ति राज्य सरकार के गलत निर्णयों से दुःखी है। सरकार के काम करने के गलत तरीके के चलते राज्य की तरक्की की रफ़्तार एकदम रुक सी गई है।

आज जनप्रतिनिधियों की बात भी सरकार नहीं सुन रही है जिस वजह से पंचायत, गांव, कस्बों का भी विकास थम गया है। लोग जाति, आय, आवासीय प्रमाण पत्र बनाने के लिए भटक रहे हैं।

उक्त बातें पूर्व उपमुख्यमंत्री सह पार्टी अध्यक्ष सुदेश कुमार महतो ने गुमला जिला के चैनपुर में आयोजित गुमला विधानसभा स्तरीय सम्मेलन को संबोधित करते हुए कही। इस दौरान बोनी फास कुजूर के नेतृत्व में सैकड़ों जनप्रतिनिधियों ने पार्टी की सदस्यता ग्रहण की।

सरकार की असली तस्वीर प्रखंड व अंचल कार्यलय और थानों के काम करने के तरीके से मालूम पड़ती है। कोई भी अधिकारी बिना पैसे लिए एक काम नहीं करता है।

यही वजह है कि जरूरतमंद गरीब को आवास जैसे मूलभूत सुविधाएं भी नहीं मिल पाती है और जिसके पास पैसे हैं उसके पास सभी सुविधाएं भी हैं।

जमीन की हेराफेरी से लेकर जाली प्रमाण पत्र बनाने तक सभी काम पैसे वालों के आसानी से हो रहे हैं। और अगर दस बीस बार चक्कर लगाने के बाद गरीब का काम हो भी जाए तो वहां के अधिकारी ऐसा बर्ताव करते हैं जैसे उन्होंने गरीब आदमी पर एहसान कर दिया हो।

हमारी लड़ाई इसी व्यवस्था को उखाड़ फेखने की है। गुमला क्रांतिकारियों की धरती है चाहे वो बात देश की आज़ादी की हो या झारखंड आंदोलन की या फिर देश की सुरक्षा में सर्वोच्च बलिदान देने की यहां के युवा सबसे आगे खड़े होते हैं उनके इस जज्बे से बाकी युवओं को हौसला और प्रेरणा मिलती है।

इस दौरान उन्होंने कहा कि आज राज्य पलायन का दंश झेल रहा है। लगभग हर घर का बच्चा कमाने के लिए दूसरे राज्य में है। पलायन शौक नहीं मजबूरी है।

पलायन को रुकने के लिए सबसे पहले हमें शिक्षा व्यवस्था को मजबूत कर गांव और कस्बों से शिक्षा के अभाव को दूर करना होगा। शिक्षा प्रणाली को मजबूत करने की जगह इस सरकार ने विद्यालयों को खिचड़ी और पास स्कूल बना कर रख दिया है।

जहां बच्चे पढ़े या नहीं उन्हें पास कर दिया जा रहा जिससे आने वाली पीढ़ी के भविष्य पर नकारात्मक प्रभाव पड़ रहा है। आज कई ऐसे विद्यालय हैं जो सिर्फ एक पारा शिक्षक के भरोसे चल रहे हैं।

यह सरकार की नीयत ही नहीं है नए शिक्षकों को बहाल करने की, गलत नीतियों के चलते इनके निकाले गए नियुक्ति विज्ञापन रद्द हो जाते हैं।

एससी, एसटी और ओबीसी के हित की बात करने वाली सरकार खराब शिक्षा व्यवस्था से सबसे ज्यादा नुकसान इन्ही वर्गों से आने वाले गरीब बच्चों का कर रही है जो इन स्कूलों में पढ़ाई कर रहे हैं।

आज हमारे खनिज से दूसरे राज्य रोशन हो रहे हैं और हमारा युवा बेरोजगारी की आग में जल रहा है।

29,30 सितंबर और 1 को रांची के मोरहाबादी मैदान में आयोजित होने वाले पार्टी का केंद्रीय महाधिवेशन की तैयारियां पूरी कर ली गई हैं।

आयोजन के पहले और दूसरे दिन पार्टी के 7 हजार से अधिक पदाधिकारी और अलग अलग सत्रों के माध्यम देश विदेश के विभिन्न विषयों के विशेषज्ञ अपनी राय रखेंगे।

अंतिम दिन पार्टी के एक लाख पदेन पदाधिकारी और राज्य के सभी 32 हजार गांवों के प्रतिनिधि जनसभा में हिस्सा लेंगे। यह अधिवेशन पूरे राज्य का अधिवेशन होगा।

महाधिवेशन झारखंड के नवनिर्माण के संकल्प का मंच है। इस मंच से झारखंड के भविष्य की सिर्फ चर्चा नहीं बल्कि उसे बेहतरीन बनाने का संकल्प भी लिया जाएगा।

झारखंड के हित और विकास से जुड़े विभिन्न विषयों पर चर्चा और चिंतन मंथन करने के लिए सभी लोग आमंत्रित हैं।

महाधिवेशन के जरिए हम राज्य के भविष्य को लेकर सकारात्मक सोच रखने वाले सभी जनों को खुला मंच दे रहे हैं।

इस ऐतिहासिक महाधिवेशन से जुड़ने के लिए 999905 99905 पर मिस कॉल दे कर राज्य के विकास के बारे में सोचने वाला कोई भी व्यक्ति अपना पंजीकरण करवा सकते हैं।

अपने एक दिवसीय गुमला दौरे के दौरान सुदेश कुमार महतो ने रायडीह प्रखंड स्थित श्रीधर ज्ञान संस्थान द्वारा आयोजित कैंपस प्लेसमेंट ड्राइव में शामिल हो कर छात्रों के बीच प्रमाण पत्र का वितरण किया और सभी छात्र-छात्राओं को उज्ज्वल भविष्य की शुभकामनाएं दी।

मौके पर उन्होंने कहा कि कौशल युक्त युवा ही देश के सुनहरे भविष्य के सूत्रधार हैं। आप सभी अपने हुनर और कौशल से ही वर्तमान समय की प्रतिस्पर्धा में औरों से अलग पहचान बना कर अपने काम से अपने और अपने राज्य की बेहतरी के लिए काम कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed