ठंड के मौसम में कार में चलाते हैं हीटर, तो रखें किन बातों का ध्यान, जानें डिटेल

0

नई दिल्‍ली । उत्तर भारत के कई राज्यों में ठंड की शुरुआत हो चुकी है। ऐसे में अगर कार में सफर करते हुए आप भी हीटर का उपयोग करते हैं। तो किन बातों का ध्यान रखते हुए सुरक्षित सफर किया जा सकता है।

हम इसकी जानकारी आपको इस खबर में दे रहे हैं।

री-सर्कुलेशन मोड का उपयोग करना है खतरनाक

हीटर चलाने के बाद ज्यादातर लोग हवा को बाहर नहीं निकालते और री-सर्कुलेशन मोड का उपयोग करते हैं। जिससे वही हवा अंदर रह जाती है और बार-बार कार के अंदर घूमती रहती है। काफी समय बाद जब हवा विषैली हो जाती है तो शरीर पर बुरा असर डालती है।

सांस लेने में परेशानी

सर्दी के मौसम में कार में हीटर चलाकर रखने से कार सवार का दम भी घुट सकता है। असल में कार स्टार्ट होने के बाद कार्बन डाई ऑक्साइड, सल्फराइड, मोनो ऑक्साइड और नाइट्रोजन ऑक्साइड जैसी विषैली गैस कार से निकलती है जो स्वास्थ्य के लिए हानिकारक होती हैं। यह गैस हीटर के जरिए कार के अंदर आ जाती हैं और कार गैस चैंबर में बदल जाती है। ऐसी गैस खून के हीमोग्लोबीन से ऑक्सीजन की तुलना में बहुत तेजी से चिपकती हैं। इसके बाद दम घुटने लगता है और सांस लेने में परेशानी होने लगती है।

करें यह काम

अगर आप भी कार के हीटर का सुरक्षित इस्तेमाल करना चाहते हैं तो आपको दो बात जरूर ध्यान में रखनी चाहिए। पहली बात ये कि जब भी आप कार के हीटर को चलाएं तो इस बात का ध्यान रखें कि कार का शीशा थोड़ा खुला रहे। ऐसा करके आपको हल्की ठंड जरूर लगेगी लेकिन कार में ऑक्सीजन की कमी नहीं होगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *