बारात लेकर पहुंचा दूल्हा, नजर देखा ही शादी के लिए मना कर गई दुल्‍हन, वजह उड़ा देगी होश

0

सुल्तानपुर । उत्तर प्रदेश के सुल्तानपुर जिले (Sultanpur district)में अनोखा मामला देखने को मिला जहां शादी करने पहुंचे दूल्हे (the groom)को बिना दुल्हन के मायूस होकर वापस लौटना (come back)पड़ा. शादी करने पहुंचा दूल्हा मंदबुद्धि (feeble minded)था. पूरा मामला सुल्तानपुर जिले की लंभुआ कोतवाली क्षेत्र के एक गांव का है. कोतवाली क्षेत्र के एक गांव में आई बारात में मन्दबुद्धि दूल्हा देखने के बाद गांववाले भड़क गए. दूल्हे के परिवार की तरफ से लाए गए शादी के गहने भी नकली निकले. दुल्हन के परिवार ने पूरे मामले की सूचना लंभुआ कोतवाली पुलिस को दी. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दूल्हे और उसके पिता को कोतवाली लाकर मामले की जांच पड़ताल में जुटी गई।

दुल्हन के लिए लाए गए गहने भी नकली निकले

सुल्तानपुर जिले के मोतिगरपुर कोतवाली क्षेत्र के एक गांव से गुरुवार को लंभुआ कोतवाली क्षेत्र के गांव में बारात आई थी. बारात गांव पहुंचने के बाद बारातियों की संख्या कम होने के बाद गांव में तरह-तरह की बातें होने लगीं. जिज्ञासावश गांव के कुछ लड़कों ने दूल्हे से बात की तो उसकी पोल खुल गई. शादी में दुल्हन के लिए लाए गए गहने भी नकली निकले. इसके बाद लोगों के सब्र का बांध टूट गया और हंगामा शुरू कर दिया।

रात में शुरू हुई कानाफूसी धीरे-धीरे सुबह होने तक विवाद में बदल गई. लड़की के घरवालो ने लंभुआ कोतवाली पुलिस को पूरे मामले की सूचना दी. सूचना के बाद मौके पर पहुंची पुलिस पूरे मामले की जांच पड़ताल में जुट गई. पुलिस के आने की खबर लगते ही मौके से 10 से 12 बाराती पहले ही भाग निकले।

दूल्हे के मंदबुद्धि होने की पुष्टि हुई

लंभुआ कोतवाली एसएचओ शिवाकांत त्रिपाठी मंदबुद्धि दूल्हे, उसके दिव्यांग पिता को लेकर कोतवाली आ गई. लड़की पक्ष के भी लोग लंभुआ कोतवाली पहुंचे, जहां दूल्हे के मंदबुद्धि होने की पुष्टि हुई. इसके साथ ही लड़की पक्ष ने आरोप लगाया की शादी में दिए गए गहने भी नकली हैं. फिर पुलिस ने गहनों के बिल मांगे वो भी फर्जी निकले।

पूरे दिन कोतवाली में चली पंचायत

पूरे दिन दोनों पक्षों में पंचायत होती रही. लड़की पक्ष ने मंदबुद्धि युवक से शादी करने से साफ इनकार कर दिया. लड़की पक्ष को हर्जाना देने पर कोतवाली में सहमति बनी तो मामला सुलझ गया. लंभुआ कोतवाली एसएचओ शिवाकांत त्रिपाठी ने बताया कि प्रकरण संज्ञान में है. दोनों पक्षों ने आपस में सुलह समझौता कर लिया है. किसी पक्ष ने कोई तहरीर नहीं दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *