डीपफेक पर बढ़ती चिंताओं के बीच भारत सरकार सख्‍त, कड़े नियम बनाकर कार्रवाई का प्‍लान तैयार

0

नई दिल्‍ली । डीपफेक की घटनाएं लगातार बढ़ती जा रही हैं। एक्ट्रेस और क्रिकेटर समेत कई लोग इसका शिकार हो रहे हैं. डीपफेक पर बढ़ती चिंताओं के बीच केंद्रीय इलेक्ट्रॉनिक्स और प्रौद्योगिकी मंत्री राजीव चंद्रशेखर ने कहा कि केंद्र सरकार अगले 7-8 दिनों के भीतर नए आईटी नियम बनाएगी। उन्होंने एक खुले, सुरक्षित और जवाबदेह इंटरनेट वातावरण को बढ़ावा देने की आवश्यकता पर जोर दिया।

“प्रत्येक नवाचार लाभ और चुनौतियाँ दोनों लाता है”

केंद्रीय मंत्री ने कहा कि प्रत्येक नवाचार लाभ और चुनौतियां दोनों लाता है। हमारी जिम्मेदारी यह सुनिश्चित करना है कि हर भारतीय सुरक्षित महसूस करे और इंटरनेट पर भरोसा करे। हम उसी हिसाब से नियम-कानून बनाएंगे. उन्होंने कहा कि डीपफेक मुद्दे पर एक एडवाइजरी जारी की गई है।

सचिन तेंदुलकर भी डीपफेक वीडियो का शिकार हुए थे

मशहूर क्रिकेटर और भारत रत्न से सम्मानित सचिन तेंदुलकर भी डीपफेक वीडियो का शिकार हुए थे। उनकी शिकायत पर केंद्रीय मंत्री ने कहा कि एआई-संचालित डीपफेक और गलत सूचना भारतीय उपयोगकर्ताओं की सुरक्षा और विश्वास के लिए खतरा है। इन्हें रोकने और हटाने के लिए एक मंच की जरूरत है। एक हालिया सलाह के अनुसार प्लेटफ़ॉर्म को 100% अनुपालन करने की आवश्यकता है। प्लेटफार्मों द्वारा अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए हम जल्द ही आईटी अधिनियम के तहत कड़े नियमों को अधिसूचित करेंगे।

 

केंद्र ने पिछले साल एक एडवाइजरी जारी की थी

बता दें कि पिछले साल दिसंबर में केंद्र सरकार ने सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स के लिए एक एडवाइजरी जारी की थी. इस एडवाइजरी में मौजूदा आईटी नियमों का पालन करने का निर्देश दिया गया था. इसके साथ ही यूजर्स को आईपीसी और आईटी एक्ट 2000 समेत अन्य दंडात्मक प्रावधानों की जानकारी देने का निर्देश दिया गया।

डीपफेक क्या है?

आपको बता दें कि डीपफेक का मतलब एआई की मदद से किसी व्यक्ति की असली तस्वीर या वीडियो से छेड़छाड़ करके दूसरे व्यक्ति का चेहरा डालना है। एक्ट्रेस रश्मिका मंदाना और मशहूर क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर इसका शिकार हो चुके हैं. हाल ही में एक वीडियो वायरल हुआ था जिसमें मशहूर क्रिकेटर और भारत रत्न से सम्मानित सचिन तेंदुलकर को एक ऐप का प्रमोशन करते हुए दिखाया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *