संसद घुसपैठ के आरोपी ललित झा के घर किसने लगाए पोस्टर? मामले की जांच हुई तेज

0

दरभंगा । संसद की सुरक्षा में सेंध के आरोपित दरभंगा के बहेड़ा थाना क्षेत्र के रामपुर उदय गांव के ललित झा के घर चिपकाए गए पोस्टर्स ने नया विवाद खड़ा कर दिया है। ललित झा के भाई हरिदर्शन झा उर्फ सोनू ने बताया कि बुधवार शाम करीब चार बजे मुंबई व हरियाणा के दो अनजान व्यक्ति घर पर आये और कहा कि क्रांतिकारी ललित से मिलने के लिए हम लोग आपकी यात्रा का इंतजाम कर देंगे। ललित ने कायर का काम नहीं किया है। वह क्रांतिकारी योद्धा है। दोनों कुछ देर तक रुके और एक पोस्टरघर पर चिपका दिया।

जिन दो लोगों ने पोस्टर लगाए उसमें ललित झा, नीलम, मनोरंजन सागर, अमोल शिंदे व महेश की फोटो समेत तमाम तरह की बातें लिखी हैं। पोस्टर में लिखा है कि हमें भूख, बेरोजगारी व महंगाई से आजादी चाहिए। पोस्टर में कल्पना ईनामदार की तस्वीर और मोबाइल नंबर का भी जिक्र है। थाना प्रभारी बीके ब्रजेश ने कहा कि उन्होने इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है।

वहीं इस घटना के बाद बुधवार को राष्ट्रीय लोक आंदोलन की कार्यकारी अध्यक्ष कल्पना ईनामदार व बलवीर सिंह पहुंचे। उन्होंने ललित के पिता-माता व भाई से मुलाकात कर मामले में सहयोग करने की बात कही। आपको बता दें इससे पहले दो दिन पहले एटीएस के अधिकारियों ने ललित के माता-पिता और भाई से पूछताछ की थी। एक घंटे की पूछताछ में ललित से जुड़े कई सवाल किए गए थे। साथ ही चल-अचल संपत्ति के बारे में पूछा गया था।

ललित के पिता ने पुलिस को बताया था कि ललित ने कुछ महीने पहले निजी मेडिकल कॉलेज में दाखिले के 7 लाख की मांग की थी। और रजिस्ट्रेशन के लिए तत्काल 3 लाख रूपए मांगे थे। तब उसके पिता ने आर्थिक स्थिति का हवाला देते हुए पैसे देने से मना कर दिया था। ललित के पिता ने बताया कि कोलकाता में पूजा-पाठ कराकर किसी तरह परिवार का पेट पालते हैं। अब तक दो बार जांच एजेंसियों की टीम ललित के परिजनों से पूछताछ कर चुकी हैं। वहीं अब घर पर पोस्टर लगाने वाले कौन थे। अब इस मामले की जांच भी तेज हो गई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *