धीरज साहू ने ऑन कैमरा दिया 353 करोड़ का ‘हिसाब-किताब’, बोले- शर्म के मारे नहीं आया सामने…

0

नई दिल्‍ली । इनकम टैक्स विभाग (Income Tax Department)की छापेमारी के बाद कांग्रेस सांसद धीरज साहू (Congress MP Dheeraj Sahu)पहली बार सामने आए हैं। दरअसल, रेड के बाद साहू से जुड़े ठिकानों (Bases)से 353 करोड़ रुपए बरामद (found)किए गए। इतने सारे कैश को गिनने में बैंक के दर्जनों कर्मचारियों को पांच दिन का समय लग गया। धीरज साहू ने बताया कि वो छापेमारी के दौरान दिल्ली में थे लेकिन शर्म के मारे सामने नहीं आ रहे थे। साथ ही उन्होंने बरामद किए गए 353 करोड़ रुपए के बारे में भी बताया है।

दिल पर पहुंची है चोट…

रेड के बाद धीरज साहू ने कहा, ‘देखिए…मैं सक्रिय राजनीति में 30-35 सालों से हूं। और ऐसी वारदात मेरे साथ पहली बार हुई है। इससे मेरे दिल पर काफी चोट पहुंची है। क्योंकि मैं हमेशा यह चाहता था कि मुझे लेकर कोई विवाद न हो। लेकिन विवाद खड़ा होने के बाद अब मैं अपने और अपने परिवार के बारे में जानकारी देना चाहता हूं। हम लोगों ने काफी विकास का काम किया है… हमारे पिताजी गरीबों की काफी मदद करते थे। हम लोगों ने कई कॉलेज-स्कूल खोले, लेकिन आज जो हो रहा है उससे मुझे काफी दुख हुआ है।’

353 करोड़ का ‘हिसाब-किताब’

धीरज साहू ने आगे कहा, ‘मैं दावे के साथ कह सकता हूं कि जो पैसा बरामद किया गया है वो मेरे फर्म का पैसा है। हम लोग तकरीबन सौ साल से शराब के व्यापार में हैं। इन सौ सालों में हमने सरकार को काफी रेवेन्यू दिया है। मैं चाहता हूं कि अपनी तरफ से इसका खुलासा कर दूं।’

शर्म के मारे नहीं आया सामने…

धीरज साहू ने बताया, ‘मैं तब (रेड के समय) दिल्ली में ही था। आप लोगों (मीडिया) से मिलना चाहता था लेकिन कुछ परिस्थिति ऐसी सामने आ गई कि मुझे आप सब के सामने आने में शर्म महसूस हो रही थी। मैं राजनीति छोड़कर बिजनेस में ध्यान नहीं देता था। व्यापार मेरे परिवार के लोग करते थे।’

परिवार में हैं 6 भाई

इसके बाद कांग्रेस सांसद ने अपने परिवार से जुड़े कंपनियों के बारे में कुछ जानकारी दी। उन्होंने कहा, ‘हमारा बहुत बड़ा परिवार है। हम लोग कुल 6 भाई हैं। सभी के बच्चे बिजनेस से जुड़े हैं। हमारा बिजनेस करीब 100 साल पुराना है। कैश जो पकड़ा गया है वो हमारे शराब से जुड़ी फर्मों का है। शराब व्यापार में सारा सेल (बिक्री) कैश पर होता है, जो भी पैसा पकड़ा गया है वो शराब के सेल का है। इस पैसे का संबंध कांग्रेस या किसी और पार्टी से नहीं है। यह पूरी तरह से हमारी कंपनी का पैसा है।’

गौरतलब है कि धीरज साहू से जुड़े ठिकानों पर इनकम टैक्स विभाग ने तीन राज्यों में छापेमारी की थी। कैश से भरे 176 बैग बरामद किए गए। जब इनकी गिनती हुई तब खुलासा हुआ कि सांसद के ठिकानों से 353 करोड़ रुपए निकले हैं। आयकर विभाग ने बताया कि अब तक एक ऑपरेशन में एक साथ इतने पैसे कभी नहीं जब्त किए गए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *