दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की एक रिपोर्ट में बड़ा खुलासा वर्ष 2022 में 225 लोगों ने जान गंवाई

0

राजधानी की सड़कों पर रात 10 से 12 बजे के बीच सड़क हादसों में सबसे ज्यादा मौत की घटनाएं बीते वर्ष हुई। यह खुलासा दिल्ली ट्रैफिक पुलिस की एक रिपोर्ट में हुआ है। इसमें बताया गया है कि बीते दो वर्षों से लगातार रात 10 से 12 बजे के बीच सड़क हादसों में ज्यादा मौत हो रही हैं। वर्ष 2021 में जहां इन दो घंटों के दौरान 219 लोग मारे गए। वहीं, वर्ष 2022 में 225 लोगों ने जान गंवाई।

ट्रैफिक पुलिस के अनुसार दिल्ली में प्रत्येक वर्ष दिन के मुकाबले रात में ज्यादा जानलेवा सड़क हादसे होते हैं। वर्ष 2022 में दिन में 622 जानलेवा हादसे हुए, वहीं रात में 806 घटनाएं दर्ज की गई। ट्रैफिक पुलिस की रिपोर्ट में बताया गया है कि वर्ष 2022 में सबसे ज्यादा सड़क हादसों में 225 मौत रात 10 से 12 बजे के बीच हुई हैं।

रात 12 से दो बजे के बीच 177 लोगों ने अपनी जान गंवाई है, जबकि रात 8 से 10 बजे के बीच 163 लोग मारे गए। सुबह 10 से 12 बजे के बीच सबसे कम 83 जानलेवा सड़क हादसे हुए हैं। सोमवार के दिन सबसे अधिक घटनाएं ट्रैफिक पुलिस की रिपोर्ट में बताया गया है कि वर्ष 2021 में मंगलवार को सबसे कम जानलेवा सड़क हादसे (152) हुए। वहीं, 2022 में बुधवार को सबसे कम जानलेवा सड़क हादसे (180) दर्ज किए गए। दिल्ली की सड़कों पर सोमवार को (223) और शनिवार (211) को सबसे ज्यादा सड़क हादसों में लोगों ने जान गंवाई है।

25 से अधिक राहगीर मारे गए
दिल्ली यातायात पुलिस के अनुसार, राजधानी में सड़क हादसों में वर्ष 2021 के मुकाबले 2022 में 25 फीसदी ज्यादा मौत हुई है। वर्ष 2021 में जहां सड़क हादसों में 504 लोगों की मौत हुई थी तो वहीं वर्ष 2022 में सड़क हादसों में 629 लोगों ने जान गंवाई है। दुपहिया सवार की मौत में भी वर्ष 2022 में 18 फीसदी का इजाफा हुआ है। वर्ष 2021 में जहां सड़क हादसों में 472 दुपहिया सवार मारे गए तो वहीं वर्ष 2022 में 552 दुपहिया सवार की मौत सड़क हादसों में हुई है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *