आयुर्वेदाचार्य से जानें किडनी की गांठ का इलाज कैसे किया जाता

0

किडनी हमारे शरीर का सबसे अहम अंग है। जब किडनी स्वस्थ होती है, तो आप स्वस्थ महसूस करते हैं। लोगों को किडनी से जुड़े तरह-तरह की समस्याओं का सामना करना पड़ता है। किडनी में सिस्ट होना भी एक समस्या है। आपको बता दें कि किडनी सिस्ट, तरल पदार्थ की एक गोल थैली होती है। यह सिस्ट किडनी के अंदर बनी होती है। किडनी सिस्ट, किडनी के कार्यों को बाधित कर सकती है।

किडनी सिस्ट होने पर आपको पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द हो सकता है। इसके साथ ही, पीठ या बाजू में हल्का दर्द और बुखार आना भी किडनी में गांठ का लक्षण हो सकता है। आइए, रामहंस चेरिटेबल हॉस्टिपल, सिरसा के डॉ. श्रेय शर्मा से जानते हैं किडनी में गांठ का आयुर्वेदिक इलाज क्या है

क्या आयुर्वेद में किडनी सिस्ट का इलाज संभव है?

डॉ. श्रेय बताते हैं, ‘ आयुर्वेद में किडनी सिस्ट का इलाज पूरी तरह से संभव है। आयुर्वेद में सिस्ट को काटने के लिए दवाइयों का इस्तेमाल किया जाता है। अगर किडनी में गांठें कम है, तो आयुर्वेद में इसका इलाज किया जा सकता है। हालांकि, अगर किडनी में काफी गांठें बनी हैं, तो ऐसे में आपको ऑपरेशन की जरूरत पड़ती है। इसे नजरअंदाज कभी नहीं करना चाहिए। अन्यथा आपको दिक्कत हो सकती है।’

किडनी में गांठ का आयुर्वेदिक इलाज

1. शिलाजीत

आयुर्वेद में शिलाजीत का उपयोग कई बीमारियों का इलाज करने के लिए किया जाता है। शिलाजीत का इस्तेमाल किडनी सिस्ट को निकालने के लिए भी किया जा सकता है। जी हां, डॉक्टर श्रेय बताते हैं कि आयुर्वेद में किडनी सिस्ट को निकालने के लिए शिलाजीत का उपयोग किया जाता है। आयुर्वेद में शिलाजीत को कई अन्य जड़ी-बूटियों के साथ मिलाकर उपयोग में लाया जाता है। इसके अलावा, आप चाहें तो सिर्फ शिलाजीत का भी उपयोग कर सकते हैं।

2. कचनार की छाल का पानी

किडनी की गांठ को निकालने के लिए कचनार की छाल को भी उपयोग में लाया जा सकता है। इसके लिए आप कचनार की छाल लें। अब इसे पानी में डालें और उबाल लें। फिर आप इस पानी को छानकर पी सकते हैं। इससे किडनी का स्वास्थ्य बेहतर होता है। किडनी की गांठ को भी निकालने में मदद करता है। आयुर्वेद में कचनार की छाल का इस्तेमाल तरह-तरह की बीमारियों को ठीक करने के लिए किया जाता है। आप किडनी की गांठ में भी इसका सेवन कर सकते हैं।

3. हल्दी से ठीक होगी किडनी की गांठ

डॉक्टर श्रेय बताते हैं कि किडनी की गांठ निकालने के लिए हल्दी भी एक अच्छा उपाय हो सकता है। हल्दी में कई गुण मौजूद होते हैं, जो कई बीमारियों को दूर रखते हैं। हल्दी शरीर की इम्यूनिटी बूस्ट करता है और सेहत को बेहतर बनाए रखने में मदद करता है। इसके लिए आप एक गिलास गुनगुना पानी लें। इसमें हल्दी मिक्स करें और फिर पानी पी लें। आप रोज सुबह हल्दी वाला पानी पी सकते हैं। इससे शरीर में जमा विषाक्त पदार्थ भी आसानी से निकल जाएंगे।

किडनी में गांठ होने पर इन चीजों से करें परहेज

डॉ. श्रेय शर्मा बताते हैं, ‘किडनी में गांठ होने पर आपको दवाइयों का सेवन करना चाहिए। इसके अलावा, घरेलू या आयुर्वेदिक उपायों को भी आजमाया जा सकता है। हालांकि, किडनी में गांठ होने पर कुछ चीजों से भी आपको परहेज करना चाहिए।’

किडनी में गांठ होने पर आपको शाम के समय लिक्विड लेने से बचना चाहिए।
शाम को दूध या पानी का सेवन करने से बचें।
किडनी में गांठ होने पर आपको सात्विक भोजन ही लेना चाहिए।
किडनी में गांठ होने पर ज्यादा मिर्च या मसालेदार भोजन करने से बचें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *