वकालत एक अति सम्मानित पेशा:न्यायमूर्ति आनंदा सेन

संविधान दिवस सह अधिवक्ता दिवस कार्यक्रम का समापन

RANCHI:  अधिवक्ता परिषद्, झारखण्ड द्वारा काँके, राँची स्थित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के सभागार में आयोजित संविधान सह

अधिवक्ता दिवस कार्यक्रम के समारोप सत्र में मुख्य अतिथि झारखण्ड उच्च न्यायालय के माननीय न्यायमूर्ति  आनंदा सेन तथा विशिष्ट अतिथि झारखण्ड उच्च न्यायालय के माननीय न्यायमूर्ति  दीपक रोशन की गरिमामयी उपस्थिति थी।

अधिवक्ताओं के उत्तरदायित्व एवं सदाचार नामक गोष्ठी को सम्बोधित करते हुए मुख्य अतिथि माननीय न्यायमूर्ति आनंदा सेन ने कहा कि आज बहुत ही पावन अवसर है जब हम संविधान सह अधिवक्ता दिवस मना रहे है

साथ ही उन्होंने कहा कि वकालत एक अति सम्मानित पेशा है इसलिए अधिवक्ता समाज के अग्रणी पंक्ति में खड़े एक मजबूत स्तम्भ होते है

जिन्हे यह पता होता है कि समाज के हित में कौन सा क़ानून है तथा उसकी महत्ता क्या है

ऐसे में हर अधिवक्ता की यह जिम्मेवारी हो जाती है की वो सामान्य लोगो को उचित कानून सम्मत्त सलाह ही दे

ताकि संविधान के प्रावधानों का उसके उद्देश्यों के अनुरूप पालन किया जा सकें।

वही माननीय न्यायमूर्ति  दीपक रोशन ने अपने सम्बोधन में कहा कि अधिवक्ताओं का समाज के प्रति उत्तरदायित्व अब और बढ़ने वाला है

क्योंकि माननीय सुप्रीम कोर्ट अब इस दिशा में कार्य कर रही है कि, कोर्ट में केस आने से पहले ही सुलझ जाये ऐसे में अधिवक्ताओं की भूमिका और अहम होने वाली है तथा उनका ओहदा और ऊँचा होने वाला है।

मौके पर मंचासीन अन्य अतिथियों लेखक एवं सामाजिक कार्यकर्त्ता लक्ष्मी नारायण भाला, अखिल भारतीय अधिवक्ता परिषद् के क्षेत्रीय मंत्री  सुनिल कुमार, झारखण्ड स्टेट बार कॉउंसिल के अध्यक्ष  राजेन्द्र कृष्णा,

बार कॉउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य  प्रशांत कुमार सिंह, वरीय अधिवक्ता झारखण्ड उच्च न्यायालय सह कार्यक्रम संरक्षक अनिल कुमार कश्यप, अधिवक्ता परिषद् झारखण्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र कुमार मिश्र, परिषद् के महासचिव  विजय नाथ कुंवर, मंत्री भीम महतो, मनोज कुमार, प्रदीप चौरसिआ के समक्ष मूट कोर्ट प्रतियोगिता के विजयी प्रतिभागी अमिटी लॉ स्कूल झारखण्ड के निखिल कुमार बर्मन, ऋचा प्रिया,

सृष्टि सिन्हा नेताजी सुभाष यूनिवर्सिटी जमशेदपुर के सोनाली प्रधान, प्रशंसा दीवान, वर्षा राज तथा बेस्ट मुटर नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी के मोहम्मद फहद, बेस्ट रिसर्चर इक्फ़ाई झारखण्ड के हर्षित कुमार को

मुख्य अतिथि माननीय न्यायमूर्ति आनंदा सेन एवं विशिष्ट अतिथि माननीय न्यायमूर्ति दीपक रोशन के द्वारा पुरुष्कृत किया गया।

मौके पर पूरे कार्यक्रम को सफल बनाने में वरीय अधिवक्ता आर० एन० सहाय एवं राजीव शर्मा, प्रशांत विद्यार्थी, प्रभात कुमार सिन्हा, रीतेश कुमार बॉबी, राधेकृष्ण गुप्ता, प्रमोद कुमार गुप्ता, विजय पाण्डेय, अखौरी अंजनी कुमार, चंद्र भूषण ओझा,

नीता कृष्णा, उमा बी० कामेश्वरी, ज्योति कच्छप, पुष्पा कुमारी, सुरेश कुमार, मनीष कुमार सिंह, उमा कांत प्रसाद,

हराधन प्रमाणिक, पवन पाठक, रवि प्रकाश, सतेन्द्र नाथ गोंझू, प्रवीण कुमार पाण्डेय, अशोक कुमार सिन्हा,

अशोक कुमार तथा मूट कोर्ट प्रतियोगिता में सह संयोजक मिथिलेश कुमार पाण्डेय नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी की डॉ. प्रिया विजय,

डॉ. सुबीर कुमार, डॉ. गुंजन, झारखण्ड राय यूनिवर्सिटी से प्रेरणा तिवारी इक्फ़ाई यूनिवर्सिटी के डॉ. अलोक कुमार का विशेष योगदान रहा तथा

कार्यक्रम का संचालन श्रीमती नीता कृष्णा ने किया

इस अवसर पर झारखण्ड उच्च न्यायालय रांची, व्यवहार न्यायालय, टैक्सेशन न्यायालय एवं पूरे झारखण्ड के विभिन्न जिलों से आये अधिवक्ताओं की गरिमामयी उपस्थिति रही।

यह जानकारी अधिवक्ता परिषद् झारखण्ड के प्रदेश मीडिया सह प्रमुख श्री रीतेश कुमार बॉबी, अधिवक्ता, झारखण्ड उच्च न्यायालय के द्वारा दी गयी ।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *