वकालत पेशा अध्यात्म से जुड़ा पेशा: सेवा निवृत्त न्यायधीश तपन सेन

नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी राज्यस्तरीय विधि महाविद्यालय के छात्रों का मूट कोर्ट प्रतियोगिता, 2022 का आयोजन

 

RANCHI:  अधिवक्ता परिषद् झारखण्ड के द्वारा राँची स्थित नेशनल लॉ यूनिवर्सिटी (NUSRL) काँके (राँची) में आज एक राज्यस्तरीय विधि महाविद्यालय के छात्रों का मूट कोर्ट प्रतियोगिता, 2022 का आयोजन किया गया।

उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि झारखण्ड उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश तपन सेन ने मूट के सभी प्रतिभागी तथा उपस्थित सीनियर तथा अन्य अधिवक्ताओं के समक्ष वकालत पेशे की महत्ता एवं उसके साथ-साथ वकालत पेशे की ड्रेस की महत्ता के बारे मे विस्तृत चर्चा की

तथा उन्होने बताया कि वकालत पेशा एक अध्यात्म से जुड़ा पेशा है जिसमें पेशे की अच्छाईयों के द्वारा अधिवक्ता एक वास्तविक समाज सेवा करता है

तथा उन्होने उपस्थित विद्यार्थियों के भविष्य के लिए शुभकामनाऐं दी

वहीं झारखण्ड उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश एन.एन तिवारी ने मूट कोर्ट में उपस्थित प्रतिभागियों को भारत की वर्तमान परिस्थिति में विभिन्न कानूनों की उपयोगिता तथा उससे होने वाले प्रभाव के बारे में जानकारी दी

तथा उपस्थित प्रतिभागियों को भविष्य की ढेर सारी शुभकामनाऐं भी दी।

साथ ही साथ वरीय अधिवक्ता  सह कार्यक्रम संरक्षक अनिल कुमार कश्यप ने विद्यार्थियों को अधिवक्ता परिषद् के उद्देश्य एवं कार्यो का विस्तृत परिचय करवाया

और बताया अधिवक्ता परिषद् का मूल उद्देश्य अंतिम व्यक्ति तक न्याय को पहुँचाना है।

अधिवक्ता परिषद् के प्रदेश अध्यक्ष राजेन्द्र कुमार मिश्र के द्वारा अधिवक्ता परिषद्, झारखण्ड के बारे में परिचय दिया

तथा उन्हें बताया गया कि अधिवक्ता परिषद् झारखण्ड के क्रियाकलापों एवं स्थापना के बारे में विस्तृत जानकारी दी

तथा साथ ही अधिवक्ता परिषद् के उद्देश्यों व संगठन के बारे में जानकारी दी।

झारखण्ड स्टेट बार काउंसिल के चेयरमेन सह कार्यक्रम संयोजक राजेन्द्र कृष्ण ने आगे होने वाले कार्यक्रमों की विस्तृत जानकारी दी।

कार्यक्रम में बार काउंसिल ऑफ इंडिया के सदस्य सह कार्यक्रम संरक्षक प्रशांत कुमार सिंह ने सभी प्रतिभागियों को उज्जवल भविष्य के लिए शुभकामनाऐं दी।

तीन चरणों में संपादित होने वाली प्रतियोगिता के प्रथम चरण प्री और सेमीफाईनल राउंड आज सफलता पूर्वक संपन्न हुए

जिसमें सेमीफाईनल राउंड के जज झारखण्ड उच्च न्यायालय के सेवानिवृत्त न्यायाधीश  तपन सेन तथा सेवानिवृत न्यायाधीश माननीय  एन.एन तिवारी तथा झारखण्ड उच्च न्यायालय के वरीय अधिवक्ता

अनिल कुमार कश्यप एवं वरीय अधिवक्ता  राजीव शर्मा थे। सह संयोजक श्री मिथलेश कुमार पाण्डेय ने कार्यक्रम का संचालन किया।

इसके अलावा इस पूरी प्रतियोगिता में कुल 8 कोर्ट रूमों में प्री राउंड के लिए बनाये गये जजों में कृष्ण कुमार (सेवानिव्त्त ए0डी0जे0), आर0 पी0 सिंह, मनोज टंडन, लीना मुखर्जी, अमरेन्द्र कुमार, प्रभात कुमार, सिद्धार्थ मजुमदार, पंकज श्रीवास्तव (सेवानिव्त्त डी0जे0),

रवि प्रकाश, अनिल कुमार सिंह, पिंकी साव, रंजीत चौधरी (सेवानिव्त्त ए0डी0जे0), सावना कुमार, अवनिश रंजन मिश्र, इंदू परासर आदि थे।

मूट कोर्ट के कार्यक्रम में NUSRL की सुश्री प्रिया विजय ने प्रमुख भूमिका निभाई।
प्रतियोगिता में पूरे झारखण्ड से 16 विधि कॉलेजों/विश्वविद्यालयों के विद्यार्थियों ने भाग लिया।

इस अवसर पर उपस्थित प्रमुख लोगों में प्रशांत विद्यार्थी, गोपालकृष्ण निताई, प्रभात कुमार सिन्हा, अखोरी अंजनी कुमार, राधाकृष्ण गुप्ता,

रीतेश कुमार बॉबी, भीम महतो, प्रमोद कुमार गुप्ता, विजय पाण्डेय, बख्शी विभा,

सुरोजीत रॉय, जितेन्द्र त्रिपाठी, रमित सत्येन्द्र, श्वेता सिंह, अभिजीत कुमार, मनोज कुमार, बलिराम प्रसाद जयसवाल,

हराधन प्रमाणिक, ज्योति कच्छप, सत्येन्द्रनाथ गंझू, पुनम कुमारी, अमरदीप प्रजापति, नेहा पाण्डेय, पवन पाठक, सुशील कुमार, ज्ञानरंजन सहदेव, प्रवीण कुमार पाण्डेय,

अजय पाठक, संजय पाठक थे। यह जानकारी प्रदेश मीडिया सह प्रभारी रीतेश कुमार बॉबी के द्वारा दी गई |

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *