राज्य में सत्ता के शीर्ष पर बैठे हैं भ्रस्टाचारी : बाबूलाल मरांडी

 

RANCHI:  अगर राज्य में भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाना है, तो सबसे पहले सत्ता के शीर्ष पर बैठे भ्रस्टाचारी लोगों पर अंकुश लगाना होगा।

क्योंकि जबतक शीर्ष पर भ्रस्टाचारी रहेंगे नीचे वाले भी भ्रस्टाचार करते रहेंगे। आज झारखण्ड जांच एजेंसी यही काम कर रहे हैं।

ये यह बातें आज भाजपा विधायक दल के नेता व पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी गिरिडीह जिला के झंडा मैदान में हेमंत हटाओ झारखंड बचाओ जन आक्रोश प्रदर्शन सभा को संबोधित करते हुए कही।

श्री मरांडी ने कांग्रेस झारखंड मुक्ति मोर्चा और राजद पर हमला करते हुए कहा कि जब-जब इन दलों की देश में या राज्य में सरकार बनी है

तब तब ये लोग सिर्फ देश या राज्य को लूटने का काम किये है।

ये लोग सिर्फ पैसे के लिए सरकार बनाते और राजनीति करते हैं।

मैं तो कहता हूं कि झारखंड मुक्ति मोर्चा का नाम झारखंड मुद्रा मोचन पार्टी होना चाहिए।

झामुमो अलग राज्य के उद्देश्य से भटक कर मुद्रा मोचन में लग गयी

उन्होंने कहा कि झारखंड मुक्ति मोर्चा अलग राज्य के निर्माण के उद्देश्य से भटक कर मुद्रा मोचन में लग गयी थी।

अगर वे चाहते तो 1991 में ही झारखंड एक अलग राज्य बन गया होता लेकिन कांग्रेस वालों ने उस आंदोलन को खरीदने का काम किया

और झारखंड मुक्ति मोर्चा वालों ने आंदोलन को बेचने का काम किया।

आज हेमंत सोरेन जिन लोगों के गोद में बैठकर राजनीति कर रहे हैं वही लोग उनके पिता को जेल भेजने का भी काम किया था

क्योंकि उस वक्त केंद्र में और बिहार में इनकी सहयोगी दलों की ही सरकार थी।

उन्होंने कहा कि अगर भाजपा की अटल बिहारी वाजपेई जी के नेतृत्व में केंद्र में सरकार नहीं बनती तो आज झारखंड अलग राज्य भी नहीं बनता।

अतः जब राज्य भाजपा ने बनाई है तो विकास भी भाजपा ही करेगी।

भाजपा की जब जब सरकार बनी है देश में विकास का काम हुआ है
श्री मरांडी ने कहा कि कांग्रेस देश में 50 से 60 साल तक शासन की लेकिन याद कीजिए कि गांव तक सड़के नहीं थी,

बिजली नहीं थी ,पेयजल की समस्याओं से लोग जूझते रहते थे ।लेकिन जब देश में भाजपा की सरकार बनी और राज्य में भी भाजपा की सरकार बनी

तो आज राज्य के गांव गांवों को सड़क के माध्यम से शहरों से जोड़ा गया,

नदियों में पुल पुलिया बनाया गया, गांव को बिजली पहुंचाई गयी। आज झारखंड के लगभग सभी गांव में सड़क और बिजली पहुंच चुकी है।

लेकिन आज हेमंत सोरेन की सरकार अपने 3 साल पूरे कर चुकी है और इन 3 सालों में विकास की दिशा में एक कदम भी आगे नहीं बढ़ी है । ना तो 1 किलोमीटर सड़क का निर्माण कर पाई है और ना ही एक पुल का निर्माण कर पायी है।

उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि केंद्र सरकार की जो योजनाएं राज्य को मिलती है ,चाहे वह पेयजल की योजना हो ,गरीब लोगों को राशन देने की योजना हो,

आयुष्मान की योजना हो या कोई और जनहित की योजनाएं हो इन सभी योजनाओं को राज्य सरकार ने खटाई में डाल देने का काम की है। मोदी द्वारा भेजी जाने वाली अनाजों का कालाबाजारी हो रहा है।

उन्होंने कहा कि आज राज्य में कानून व्यवस्था पूरी तरह से ध्वस्त हो चुकी है। राज्य में बालू,कोयला,लोहा, पत्थर सहित अन्य खनिजों की अवैध खनन हो रही है और दूसरे राज्यों में भेजा जा रहा है ।

 

हेमन्त सरकार में भ्रस्टाचार चरम पर :आदित्य साहू

राज्य के मंत्री और अधिकारी राज्य की सम्पति तथा गरीबो को लूटने में व्यस्त है।

आज झारखंड में भ्रस्टाचार चरम पर है। ये बातें आज भाजपा झारखण्ड प्रदेश के महामंत्री सह राज्यसभा सांसद आदित्य प्रसाद साहू लातेहार जिला मुख्यालय में आयोजित हेमंत हटाओ झारखंड बचाओ आक्रोश प्रदर्शन सभा को संबोधित करते हुए कही।

श्री साहू ने कहा केंद्र की मोदी सरकार ने गरीबो के लिए जो अनाज भेजते है झारखण्ड सरकार में डीलरों के मिलीभगत से उस गरीबों के निवाले को छीन ली जाती है।

गरीबों का बेटा मोदी गरीबों के दर्द को समझते है इसलिए केंद्र की सारी योजनाएं गरीबों को केंद्र बिंदु में रखकर बनाया जाता है।

लेकिन झारखंड की गरीब जनता का दुर्भाग्य है कि इस भ्रस्ट सरकार में योजनाओं का लाभ नही मिल रहा है।

राज्य में खनिज पदार्थों बालू,कोयला,पत्थर की लूट सरकार के संरक्षण में हो रही है।

 

श्री साहू ने कहा कि भाजपा के समय विकास गांव गांव तक नजर आता था लेकिन आज हेमन्त सोरेन की सरकार में झारखंड में विकास का कोई भी काम नही हो रहा है।

सारे काम ठप पड़े हुए है। विकास का मतलब सिर्फ मुख्यमंत्री का आवास तक सिमट गई है।

राज्य की सड़कें टूटी हुई है,बिजली नहीं है,पेयजल की सुविधा नही है और सरकार राज्य को लूटने में व्यस्त है।

आज लोगों को 7 से 8 घंटा की बिजली नहीं मिल रही है, वही याद कीजिए जब राज्य में भाजपा की सरकार थी राज्य में के लोगों को 22 से 23 घंटा बिजली मिला करती थी।

उन्होंने केंद्र सरकार की तारीफ करते हुए कहा कि मोदी सरकार ने गरीबो,महिलाओं, आदिवासियों तथा दलितों के कई काम की है।

देश के 11 करोड़ परिवारों को शौचालय दी,9 करोड़ परिवारों को मुफ्त में रसोई गैस दी,9 करोड़ किसानों को प्रधानमंत्री किसान आशीर्वाद योजना के तहत 2000 रु करके 18,000 करोड रुपये देने का काम की।

कोरोना काल से लेकर अबतक 80 करोड़ लोगों को चावल देने का काम कर रही है।

लेकिन राज्य की हेमंत सोरेन की सरकार 20 प्रतिशत अनाज देती है और 100 प्रतिशत पर अंगूठा लगवाती है।

बचे हुए आज की डीलरों एवं अधिकारियों के मिलीभगत से कालाबाजारी की जाती है।

ये अधिकारी अपने कार्य पद्धति में बदलाव लाये,ईमानदारीपूर्वक कार्य करे अन्यथा डीलरों के साथ साथ वे भी जेल जाएंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *