सभी सीडीपीओ नियमित रूप से करें क्षेत्र भ्रमण : उपायुक्त

स्वास्थ्य एवं समाज कल्याण विभाग से संबंधित योजनाओं की उपायुक्त ने की समीक्षा

प्रखंड स्तर पर मासिक समन्वय बैठक नियमित रूप से करने का निर्देश

RANCHI: उपायुक्त रांची  राहुल कुमार सिन्हा की अध्यक्षता में स्वास्थ्य एवं समाज कल्याण विभाग से संबंधित योजनाओं की समीक्षा बैठक आयोजित की गई।

समाहरणालय ब्लॉक-ए स्थित उपायुक्त सभागार में आयोजित बैठक में जिला समाज कल्याण पदाधिकारी, सिविल सर्जन, जिला मलेरिया पदाधिकारी, जिला यक्ष्मा पदाधिकारी, आयुष मेडिकल ऑफिसर, सभी एमओआईसी, जिला कार्यक्रम प्रबंधक एनएचएम, जिला समन्वयक आयुष्मान भारत, सभी सीडीपीओ एवं अन्य संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

बैठक के दौरान उपायुक्त राहुल कुमार सिन्हा द्वारा सभी प्रभारी चिकित्सा पदाधिकारियों एवं बाल संरक्षण पदाधिकारियों को प्रत्येक माह स्वास्थ्य एवं समाज कल्याण का प्रखण्ड स्तर पर मासिक समन्वय बैठक नियमित रूप से करने का निदेश दिया गया।

सीडीपीओ द्वारा नियमित रूप से क्षेत्र भ्रमण नहीं किए जाने पर उपायुक्त द्वारा नाराजगी जताई गई।

उन्होंने कहा कि सभी सीडीपीओ नियमित रूप से अपने-अपने क्षेत्र का भ्रमण करें।

उन्होंने सभी सीडीपीओ को वीएचएसएनडी दिवस पर निश्चित रूप से क्षेत्र भ्रमण करने का निर्देश दिया।

बैठक में उपायुक्त  राहुल कुमार सिन्हा द्वारा 15वें वित्त आयोग से निर्माणाधीन स्वास्थ्य केन्द्र/उप स्वास्थ्य केन्द्र आदि को निर्धारित समयावधि के अन्तर्गत पूर्ण करने का निदेश दिया गया।

उन्होंने कहा कि राज्य/केन्द्र स्तर से प्राप्त आदेश/निदेश से ससमय संबंधित पदाधिकारी/कर्मी को अवगत कराएं।

टीकाकरण/संस्थागत प्रसव की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने Due List के अनुरूप शत् प्रतिशत उपलब्धि प्राप्त करने का निदेश दिया।

उन्होंने कहा कि IFA Tablet एवं Calcium Tablet का आवश्यकता अनुरूप वितरण सुनिश्चित करें।

साथ ही उन्होंने यक्ष्मा रोग से पीडित व्यक्तियों को ससमय दवा उपलब्ध कराने का भी निदेश दिया।

प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना की समीक्षा करते हुए उपायुक्त ने कहा कि पात्र लोगों को योजना का लाभ ससमय देने के लिए गंभीरता पूर्वक कार्य करें।

उन्होंने प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना अन्तर्गत लक्ष्य अनुरूप उपलब्धि प्राप्त करने का निदेश दिया।

बैठक के दौरान उपायुक्त द्वारा कुपोषण उपचार केन्द्र में महिला पर्यवेक्षिका को बेड आवंटित करते हुए कुपोषित बच्चों को उपचारित करने का निदेश दिया गया।

उन्होंने कहा कि पोषण ट्रैकर में शत् प्रतिशत लाभुकों का Entry सुनिश्चित करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *