सेवा सदन में क्लीनिकल हेमाटोलॉजी विभाग की शुरुआत

अब एनिमिया थैलीसिमिया, सिकल सेल एनिमिया, प्लेटलेट संबंधित बिमारी का होगा सकेगा इलाज

RANCHI:  नागरमल मोदी सेवा सदन में क्लीनिकल हेमाटोलॉजी विभाग की शुरूआत कर दी गयी है।

विभाग डॉ. अभिषेक रंजन डीएम क्लीनिकल हेमाटोलॉजी की देख रेख में कार्यरत है।

झारखण्ड में पहली बार यह विभाग सेवा सदन में खोला गया है, जिसमें रक्त एवं रक्त से संबंधित सभी तरह की बीमारियों का इलाज एवं जांच किया जाएगा।

अभी तक झारखण्ड राज्य के सरकारी मेडिकल कॉलेज या अस्पताल में ये विभाग उपलब्ध नहीं है।

यह जानकारी सेवा सदन के अध्यक्ष अरुण छावछरिया, चिकित्सा अधीक्षक डॉक्टर सुनील रुंगटा और डॉक्टर अभिषेक रंजन ने मंगलवार को आयोजित प्रेस वार्ता में दी।

श्री छावछरिया ने बताया कि डॉ. अभिषेक रंजन अपना डीएम क्लीनिकल हेमाटोलॉजी की पढ़ाई देश के प्रसिद्ध मद्रास मेडिकल कॉलेज, चेन्नई से किया है। उन्होंने रक्त के सभी बेनाइन एवं ब्लड कैंसर से संबंधित बीमारियों (एनिमिया थैलीसिमिया, सिकल सेल एनिमिया, प्लेटलेट संबंधित बिमारी, एप्लास्टिक एनिमिया, हिमोफिलिया, ब्लड कैंसर इत्यादि) का इलाज में प्रशिक्षण प्राप्त किया है।

झारखण्ड राज्य के आदिवासी क्षेत्रों में रक्त संबंधी बीमारी जैसे कि वैलिसिमिया (Thalassemias) एवं सिकल सेल एनिमिया (sickle cell anemias) बहुत सामान्य है।

सही जानकारी नहीं होने के कारण परिवार की कई बच्चे इससे प्रभावित हो जाते हैं तथा समय पर ईलाज एवं ब्लड ट्रांसफ्यूजन के अभाव में असमय मृत्यु होता है।

पीड़ित माँ के पेट में पल रहे बच्चे का समय रहते जांच कर बीमारी को रोका जा सकता है।

जेनेटिक कांउसलिंग द्वारा बैलिसिया, सिकल सेल एनिमिया, हिमोफिलिया जैसे ब्लड संबंधित बीमारियों को रोका जा सकता है

।हिमोफिलिया (Haemophilia) के मरीज को समय से जांच कर उसके होने वाले जटिलता को रोका जा सकता है।

सेवा सदन अस्पताल द्वारा प्रयास किया जा रहा है कि आयुष्मान योजना के तहत ब्लड कैंसर एवं अन्य रक्त संबंधित बीमारियां के मरीजों का इलाज किया जा सके।

वर्तमान में सदन में डॉ. अभिषेक रंजन द्वारा जरूरतमंद मरीजों का लगभग आयुष्मान योजना के दर में ही ब्लड कैंसर का इलाज किया जा रहा है।

सदन द्वारा प्रयास है कि झारखण्ड सरकार की मिली-जुली मदद से रक्त संबंधित सारी बिमारियां जैसे एनिमिया थैलीसिमिया, सिकल सेल एनिमिया, प्लेटलेट डिसऑर्डर, हिमोफिलिया, ब्लड कैंसर आदि का इलाज सदन में किया जा सके।

प्रेस कॉन्फ्रेंस में सेवा सदन के  सचिव आशिष मोदी, पवन शर्मा, आलोक तुलस्यान, डॉ विजय शंकर दास, डॉ रिचा समेत अन्य लोग उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *