नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दें मुख्यमंत्री: संजय सेठ

मुख्यमंत्री को ईडी के समन के बाद रांची सांसद का बयान

 

RANCHI:  भारतीय राजनैतिक इतिहास में संभवत यह पहली घटना है, जब किसी मुख्यमंत्री को किसी एजेंसी ने पूछताछ के लिए बुलाया है।

भ्रष्टाचार के इतने बड़े मामले में मुख्यमंत्री  हेमन्त सोरेन को पूछताछ के लिए बुलाना, यह लोकतांत्रिक इतिहास की काली घटना है

और नैतिकता के आधार पर मुख्यमंत्री को अविलंब इस्तीफा दे देना चाहिए।

उक्त बातें रांची के सांसद  संजय सेठ ने एक बयान जारी करके कही।

सांसद श्री सेठ ने कहा कि यह बेहद दुर्भाग्यपूर्ण स्थिति है कि मुख्यमंत्री के आसपास के लोग भ्रष्टाचार के आरोप में या तो जेल में बंद हैं, या जांच एजेंसी के समक्ष हाजिर हो रहे हैं।

राज्य में जहां-जहां भी ईडी ने छापेमारी की है, वहां से कुछ न कुछ बरामद हुआ है।

मतलब साफ है कि राज्य में व्यापक भ्रष्टाचार हुआ है। मधु कोड़ा के शासनकाल से भी बड़ा घोटाला और भ्रष्टाचार झामुमो के नेतृत्व वाली यूपीए सरकार में हुआ है।

सांसद ने कहा कि मुख्यमंत्री को भी जांच एजेंसी का सम्मन मिलना, यह प्रमाणित करता है कि इस भ्रष्टाचार की कहानी में में कहीं ना कहीं मुख्यमंत्री भी शामिल है।

मुख्यमंत्री ने निष्ठा, सुचिता और नैतिकता के साथ जिस संविधान की शपथ ली है।

यह उस संविधान का अपमान है।
मुख्यमंत्री को चाहिए कि लोकतंत्र और संवैधानिक मर्यादाओं की रक्षा करते हुए तत्काल अपने पद से इस्तीफा दें।

देश की न्याय प्रक्रिया, देश की कानून व्यवस्था और देश के न्यायालय पर विश्वास जताएं। एजेंसियों को जांच में सहयोग करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *