विष्णु बाबू के विचारों को जनमानस तक पहुँचाना होगा: संजय सेठ

 

RANCHI: आज झारखंड आंदोलन के अग्रणी नेता, महान समाजसेवी, विधि ज्ञाता एवं कुरमाली भाषा के शब्दकोश विष्णुचरण महतो पुण्य तिथि समारोह का आयोजन होटल सिटी प्लेस सभागार, रांची में किया गया।

इस अवसर पर मुख्य अतिथि के रूप में  सांसद  संजय सेठ ने कार्यक्रम मे उपस्थित लोगों को सम्बोधित करते हुए कहा कि बिष्णु बाबु के विचारों को जनमानस पहुँचाना समाज के लिए बहुत ही उपयोगी होगा,

संजय सेठ ने कहा बिष्णु बाबु ने अपने जीवन काल में समाज के प्रति काफी योगदान दिया, जिन्हें भुलाया नहीं जा सकता है।

हम सभी को उनके विचारधारा पर अमल करने की आवश्यकता है।

विशिष्ट अतिथि के रूप में प्रो डॉ मुकुंद चन्द्र मेहता, कुलसचिव, रांची विश्वविद्यालय उपस्थित हुए प्रो मेहता ने कहा

शिक्षा को लेकर लोगों को जागृत करने तथा क्षेत्र में नशा मुक्ति समेत अलग-अलग समाज सुधार कार्यों में स्व. विष्णु चरण महतो का उल्लेखनीय योगदान रहा है।

कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुरमाली भाषा परिषद के अध्यक्ष सह सदस्य सलाहकार समिति, केन्द्रीय पुस्तकालय,

भारत सरकार के डॉ राजा राम महतो ने कहा कि विष्णु चरण महतो प्रारंभिक शिक्षा गांव के सिंगपुर स्कूल में प्राप्त की थी।

मैट्रिक चक्रधरपुर से तथा काॅलेज की पढ़ाई पटना विश्वविद्यालय से किया था।

उन्होंने 1950 में वकालत की डिग्री हासिल की थी। उन्होंने कहा मारांग गोमके जयपाल सिंह मुंडा के साथ मिलकर अपने सामाजिक-आर्थिक विकास के लिए संघर्ष किया था।

इस अवसर पर कुरमाली कवि श्री देवेन्द्रनाथ महतो द्वारा लिखित पुस्तक कुरमाली भाषा, साहित्य एवं व्याकरण का लोकार्पण किया गया

तथा 21 कुरमाली कवि एवं लेखक को सम्मानित किया गया

इस अवसर पर डॉ कमल कुमार बोस, डॉ धनेश्वर महतो, विंग कमांडर ज्ञानेश्वर महतो, भुवनेश्वर महतो,

डॉ गीता कुमारी, कुरमाली कवि देवेन महतो, रतन कुमार महतो, कवि मुक्तिपद महतो, अधिवक्ता ब्रजेंद्र महतो, प्रदीप महतो,

डॉ मानसिंह महतो, प्रो नीना महतो, मीना महतो, डॉ मंजय प्रमाणिक, प्रो संतोषी देवी, प्रो बीएन प्रमाणिक, विक्रम महतो, डॉ पूनम कुमारी, अशोक कुमार महतो,

नकुल चंद्र महतो, तरुण कुमार महतो, सुचांद कुमार महतो, बंसीधर महतो आदि काफी संख्या में लोग उपस्थित थे।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *