राज्यपाल से मिला आईएमए, झारखंड का प्रतिनिधिमंडल, समस्याओं से संबंधित सौंपा ज्ञापन

आयुष्मान भारत के तहत कार्य करने में अस्पतालों को आने वाली विभिन्न कठिनाइयों के संबंध में जानकारी दी

RANCHI: इंडियन मेडिकल एसोसिएशन(आईएमए), झारखंड का प्रतिनिधिमंडल रांची आईएमए अध्यक्ष डॉ शंभू प्रसाद सिंह के नेतृत्व में शुक्रवार को राज्यपाल रमेश बैस से मिला.

प्रतिनिधि मंडल ने राज्यपाल को ज्ञापन सौंपते हुए अपनी समस्याओं से अवगत कराया.

प्रतिनिधिमण्डल ने राज्य में आयुष्मान भारत के तहत कार्य करने में अस्पतालों को आने वाली विभिन्न कठिनाइयों के संबंध में जानकारी दी

ज्ञापन में बताया गया है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 21   सितम्बर 2018 को झारखंड से ही आयुष्मान भारत योजना की शुरुआत की थी.

स्वास्थ्य बीमा योजना के माध्यम से चिकित्सक वर्ग आर्थिक रूप से कमजोर व असमर्थ लोगों का उपचार कर रहे थे.

सितंबर, 2021 के बाद कठिनाइयों का सामना करने के फलस्वरूप इस महती योजना का आंशिक लाभ ही लोगों को मिल पा रहा है.

पूर्व में स्वीकृत प्राप्त मरीजों के इलाज के बाद क्लेम की गयी राशि का भुगतान नहीं होने से अस्पतालों की आर्थिक स्थिति खराब हो गई है.

इस कारण बहुत सारे अस्पताल बंद भी हो गये या बंद होने की स्थिति में हैं.

बहुत से अस्पतालों पर विभिन्न संस्थानों का कर्ज भी हो गया है. इस बारे में राज्यपाल को विस्तार से जानकारी दी.

राज्यपाल से मिलने वालों में आईएमए रांची के अध्यक्ष डॉ शंभू प्रसाद, डॉ राजेश कुमार (बालपन अस्पताल), योगेश गंभीर, राज अस्पताल एवं रानी अस्पताल के संचालक डॉ राजेश के अलावा कई चिकित्सक शामिल थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *