बीएयू: कृषि संकाय में बटन मशरूम पर प्रशिक्षण का समापन

डीन एग्रीकल्चर डॉ एसके पाल ने प्रशिक्षाणार्थियों को सफल प्रशिक्षण का दिया प्रमाण-पत्र 

अगला प्रशिक्षण 2 नवंबर से होगा

RANCHI: बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि संकाय के अधीन पौधा रोग विज्ञान विभाग द्वारा संचालित मशरूम उत्पादन यूनिट में बटन मशरूम की व्यावसायिक खेती पर आयोजित 28 दिवसीय प्रशिक्षण का समापन सोमवार को हुआ.

मौके पर डीन एग्रीकल्चर डॉ एसके पाल ने प्रशिक्षाणार्थियों को सफल प्रशिक्षण का प्रमाण-पत्र प्रदान किया.

प्रशिक्षाणार्थियों को प्रशिक्षण के दौरान सीखी व्यावहारिक ज्ञान का घरेलु एवं व्यावसायिक स्तर पर बटन मशरूम उत्पादन के लिए प्रेरित किया.

मौके पर जन सहभागी विकास केंद्र, पंडरा से जुड़ी कांके रोड निवासी ज्योति सिंह ने बताया कि प्रशिक्षण से मशरूम उत्पादन के प्रति आत्मविश्वास काफी बढ़ा है. स्वरोजगार का यह बढ़िया विकल्प है.

अपनी संस्था के माध्यम से लोगों को प्रशिक्षण देकर मशरूम उत्पादन से स्वरोजगार के लिए प्रेरित करूंगी.
इस प्रशिक्षण में रांची, पाकुड़, गढ़वा, धनबाद एवं अन्य जिले के कुल 16 लोगों ने भाग लिया.

प्रशिक्षण के समापन के दिन प्रशिक्षाणार्थियों ने कुल 28 दिनों में 8 बार पलटाई के बाद तैयार कम्पोस्ट खाद के मिश्रण का विसंक्रमण के बाद मशरूम बीज (स्पाँन) की बिजाई एवं कैमिंग किया.

मशरूम उत्पादन यूनिट प्रभारी डॉ एन कुदादा ने बताया कि अगले 30 दिनों के बाद बटन मशरूम उगने लगेगा. जिसे न्यूनतम दो बार तोड़ा जा सकता है.

8 किलो वाले कम्पोस्ट के एक बैग से डेढ़ किलो तक बटन मशरूम का उत्पादन लिया जा सकता है.

जिसकी बाजार कीमत 250 से 300 रूपये प्रति किलो है.

प्रशिक्षाणार्थियों को प्रशिक्षण के दौरान बटन मशरूम उत्पादन हेतु कम्पोस्ट खाद तैयार (24-28 दिन) करने की विधि बताया गया.

इस विधि में जैविक और अजैविक पदार्थो को मिश्रित करने की जानकारी दी गयी. इस दौरान मिश्रण का 8 बार पलटाई किया गया.

मिश्रण के तीसरे पलटाई में जिप्सम तथा सातवें पलटाई में फ्यूराडान मिलाने के बारे में बताया गया.

आठवीं पलटाई के बाद तैयार कम्पोस्ट खाद का विसंक्रमण,बिजाई एवं कैमिंग आदि व्यावहारिक जानकारी वैज्ञानिकों द्वारा दी गयी.

समापन के अवसर पर डॉ एमके वर्णवाल एवं यूनिट के संचालक मुनि प्रसाद भी मौजूद थे.
अगला प्रशिक्षण 2 नवंबर से होगा, ईच्छुक लोग सकते है निबंधन
मशरूम उत्पादन यूनिट में अगला 28 दिवसीय प्रशिक्षण 2 नवंबर से होगा.

यूनिट प्रभारी डॉ एन कुदादा ने बताया कि इस प्रशिक्षण में भाग लेने के लिए युवक – युवतियाँ, गृहणी, किसान, उत्पादक एवं संस्थाएँ निबंधन करा सकते है. जिसका प्रशिक्षण शुल्क 2 हजार रूपये है.

निबंधन में एक फोटो और आधार कार्ड की छाया प्रति देनी होगी.

विशेष जानकारी के लिए मोबाइल संख्या 9934270068 या 7631127335 से जानकारी प्राप्त की जा सकती है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *