कांग्रेस भवन में मनायी गयी पूर्व राष्ट्रपति डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम आजाद एवं पूर्व सांसद ज्ञानरंजन जी जयंती

 

RANCHI:  झारखंड प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष राजेश ठाकुर की अध्यक्षता में आज कांग्रेस भवन, रांची में पूर्व राष्ट्रपति डॉ0 एपीजे अब्दुल कलाम आजाद एवं पूर्व सांसद ज्ञानरंजन जी जयंती मनाई गई।

इस अवसर पर कांग्रेसजनों ने दोनों महान विभूतियों के चित्र पर माल्यार् कर श्रद्धासुमन अर्पित किया।

इस अवसर पर प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने स्व. कलाम एवं ज्ञानरंजन जी के व्यक्तित्व पर कहा कि भारत में मिसाइल मैन के नाम से विख्यात पूर्व राष्ट्रपति डॉ एपीजे अब्दुल कलाम का जीवन संघर्षों और सफलता का अनूठी मिसाल है।

जीवन में अभाव के बावजूद वे राष्ट्रपति के पद तक पहुंचे यह बात हम सभी को प्ररेणा देती है।

उन्होंने कहा कि राष्ट्र के सर्वोच्च सम्मान भारत रत्न से अलंकृत मां भारती के इस सच्चे सपूत का व्यक्तित्व प्रेरणाओं से भरी है।

इसे हम लोगों को अपने जीवन में समायोजित करना उनके प्रति सच्ची श्रद्धांजलि होगी।  प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने स्व. ज्ञानरंजन के व्यक्तित्व और उनके जुझारूपन की चर्चा करते हुए कहा कि स्व. ज्ञानरंजन ने झारखंड अलग राज्य की लड़ाई को मुकाम तक पहुंचाया।

उनका पूरा राजनैतिक जीवन झारखंड अलग राज्य के लिए समर्पित था। उन्होंनें अपने पूरे जीवनकाल में कांग्रेस के मजबूती एवं झारखंडवासियों की समृद्धि के लिए लड़ाई लड़ी।

उन्होंने कहा कि स्व. ज्ञानरंजन अपने आप में एक आंदोलन थे, झारखंड अलग राज्य के आंदोलन में उन्होंने अग्रणी भूमिका निभायी।

झारखंड आंदोलन में इनके योगदान को स्वर्ण अक्षरों में दिनानाथ प्रसाद, राजीव प्रकाश चौधरी, फैजल, मकसूद खान, रामानंद केशरी सहित अन्य कांग्रे
सजन शामिल थे।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *