JPSC की पहली महिला अध्यक्ष बनीं नीलिमा केरकेट्टा

JPSC

RANCHI : लंबी प्रतीक्षा के बाद झारखंड सरकार ने महाराष्ट्र कैडर की रिटायर आईएएस मैरी नीलिमा केरकेट्टा को झारखंड लोक सेवा आयोग ( JPSC) का नया अध्यक्ष नियुक्त किया है. इसके साथ ही वो  JPSC की पहली महिला अध्यक्ष बन गई हैं. राज्य सरकार ने इस मामले में आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया है.

1994 बैच की हैं आईएएस अधिकारी

नीलिमा केरकेट्टा महाराष्ट्र कैडर की 1994 बैच की आईएएस अधिकारी रह चुकी हैं. वे महाराष्ट्र सरकार में वह लोक स्वास्थ्य विभाग में प्रधान सचिव तथा महाराष्ट्र राज्य खादी ग्रामोद्योग मंडल में सीईओ आदि के पद पर कार्य कर चुकी हैं. वे पांच साल तक केंद्रीय प्रतिनियुक्ति पर कार्य कर चुकी हैं. इसके अलावा झारखंड में भी प्रतिनियुक्ति पर रहते हुए उन्होंने झारखंड शिक्षा परियोजना परिषद, पर्यटन, कला संस्कृति सहित कई विभागों में काम किया है.

कांके में निवास है नीलिमा केरकेट्टा का

रांची के कांके में नीलिमा केरकेट्टा अपने पिता डॉ. आर केरकेट्टा के साथ रहती हैं. वे जानेमाने कृषि वैज्ञानिक थे. डॉ. केरकेट्टा बिरसा कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति भी रह चुके हैं.  JPSC  में अध्यक्ष की नियुक्ति होने से अब संभावना है कि लंबित परीक्षाएं शीघ्र हो सकेंगी.  JPSC में अध्यक्ष विहीन होने के कारण विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के आयोजन, इंटरव्यू और परीक्षा संबंधी कार्यों को लेकर निर्णय नहीं हो पा रहे थे. हालांकि,  JPSC में सदस्य के तीन पदों पर प्रो. अनिमा हांसदा, डॉ अजिता भट्टाचार्य और डॉ. जमाल अहमद कार्यरत हैं.

JPSC के संचालन का दायित्व अध्यक्ष के पास

नियमों के अनुसार जेपीएससी के संचालन का मूल दायित्व जेपीएससी अध्यक्ष के पास है. इस कारण परीक्षाओं के आयोजन परेशानी हो रही थी. मुख्यमंत्री को कार्मिक विभाग ने अगले अध्यक्ष के मनोनयन का प्रस्ताव दिया था. प्रस्ताव में अपर मुख्य सचिव के.के. खंडेलवाल, दिलीप टोप्पो, शिशिर कुमार सिन्हा, डॉ. माधव शरण सिंह, चंद्रमोहन प्रसाद कश्यप, मेघू बड़ाईक व अन्य के नाम दिये गये थे.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *