ओल्ड एज होम में पचास से अधिक बुजुर्गों का किया गया फिजियोथेरेपी इलाज

RANCHI: झारखंड चैप्टर के इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथैरेपिस्टस के सदस्यों द्वारा बरियातू के सीनियर सिटीजन्स होम आरोग्य भवन-3, डीएवी नंदराज कैंपस, बरियात रोड, रांची में फिजियोथेरेपी कैंप का आयोजन किया गया।

इसमें ओल्ड एज होम के 50 से ज्यादा बुजुगों का फिजियोथेरेपी ईलाज (मुफ्त कैंप) द्वारा किया गया।

 

  आज  विश्व भर में वर्ल्ड फिजियोथेरेपी हे मनाया जाता है।

पूरे विश्व में फिजियोथेरेपी चिकित्सा के नियामक, शिक्षा या शोध का प्रारूप डब्लू सी पी टी (WCPT) नामक संस्था तय करती है।

इस बार का थीम ओस्टियो आर्थराइटिस (गठिया) है। इस बीमारी के इलाज में फिजियोथेरेपी चिकित्सा की महत्वपूर्ण भूमिका है।

ओस्टियो आर्थराइटिस गठिया का एक बहुत ही आम प्रकार है जो घुटनों को ज्यादा नुकसान पहुंचाता है।

इस बीमारी में आपके फिजिथेरापिस्ट चिकित्सक द्वारा बताए गए व्यायाम बहुत ही कारगर है

इसके द्वारा सर्जरी की आवश्यकता को विलम्ब कराया जा सकता है। इसके आलावा जोड़ों के मांशपेशियों की मजबूती और उसके मोड़ने की क्षमता में सुधार किया जा सकता है।

नियमित फिजियोथेरेपी व्यायाम मरीजों के जोड़ों का दर्द, कूल्हे की हड्डी का फ्रैक्चर और वृद्ध व्यस्कों में गिरने के जोखिम को कम कर सकता है।

इसमें सबसे महत्त्वपूर्ण मरीज़ को कुछ बातों का विशेष ख्याल रखना होता है जैसे अपने वजन को नियंत्रित रखना,

सीढ़ी का प्रयोग बहुत ज्यादा नहीं करना, घुटनों को मोड़ कर पालथी लगा के नहीं बैठना, जोड़ों की मालिश नहीं करना, नियमित फिजियोथेरेपी चिकित्सक द्वारा बताए हुए व्यायाम आदि को करना शामिल है।

इसके अलावा फिजियोथेरेपी चिकित्सक द्वारा मरीज को पूर्ण रूप से जांच कर उसकी पूरी केस हिस्ट्री लेते हुए अनेक विधियों जैसे शॉर्ट वेव डायथम, अल्ट्रासोनिक थेरेपी, टेंस थेरेपी, आई एफ टी चेरेपी, मैन्युअल थेरेपी आदि विभिन्न फिजियोथेरेपी व्यायाम द्वारा इलाज किया जाता है।

झारखंड चैप्टर के इंडियन एसोसिएशन ऑफ फिजियोथैरेपिस्टस के सदस्यों द्वारा बरियातू के सीनियर सिटीजन्स होम आरोग्य भवन-3, डीएवी नंदराज कैंपस, बरियात रोड, रांची में फिजियोथेरेपी कैंप का आयोजन किया गया।

 

इसमें ओल्ड एज होम के 50 से ज्यादा बुजुगों का फिजियोथेरेपी ईलाज (मुफ्त कैंप) द्वारा किया गया

इस कैंप में कमर का दर्द (लो बैक पैन) कधी का दर्द (फ्रोजन शोल्डर), घुटनों का दर्द (OA knee), एडी का दर्द (प्लांटर फैसिटिस) गर्दन का दर्द (सर्वाइकल स्पॉन्डिलाइटिस) आदि परेशानियों के लिए कुल 50 सीनियर सिटीजंस का फिजियोथेरेपी चिकित्सा और सलाह के द्वारा इलाज किया गया।

इसके बाद आई ए पी एसोसिएशन के सभी सदस्य 70 लोग एक साथ ओल्ड एज होम के सभी सदस्यों के साथ लंच किए।

इस अवसर पर झारखंड आई ए पी के झारखंड प्रेसिडेंट डॉ अजीत कुमार डॉ राजीव रंजन, प्रेसिडेंट जेएससीपीटी, डॉ उमा सेन गुप्ता सेंट्रल आईएपी सीईसी डॉ दिनेश ठाकुर आईएपी वाइस प्रेसिडेंट डॉ अभय कु० पाण्डेय वाइस प्रेसिडेंट जेएससीपीटी, डॉ धीरज, डॉ रजनीश बरियार डॉ सत्यम प्रकाश, डॉ संध्या, डॉ प्रियंका, डॉ विकास रजवार डॉ सुरेंद्र गुप्ता, डॉ राजीव रंजन, डॉ राहुल सिंह, डॉ नीरज आदि शहर के अनेक जाने माने फिजियोथेरेपिस्ट चिकित्सक मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *