गुरू कभी सेवानिवृत्त नहीं होते: कुलपति

रांची विश्‍वविद्यालय में शिक्षक दिवस पर मना गुरू वंदन पर्व

RANCHI:   शिक्षक दिवस के अवसर पर रांची विश्वविद्यालय के मोराबादी परिसर के आर्यभट्ट सभागार में गुरु वंदन पर्व मनाया गया।

कार्यक्रम की शुरूआत विश्‍वविद्यालय के कुलगीत से जय जय जय रांची गुरूकुल जय से होने के बाद कुलपति डॉ प्रो अजीत कुमार सिन्‍हा, कुलसचिव डॉ मुकुन्‍द चंद्र मेहता, डॉ ज्‍योति कुमार, ने दीप प्रज्‍ज्‍वलन किया।

इस अवसर पर रांची विश्‍वविद्यालय के सेवानिवृत शिक्षकों को सम्‍मानित भी किया गया।

कुलपति ने अपने संबोधन में सभागार में आये विश्‍वविद्यालय के सभी प्राध्‍यपाकों, सेवानिवृत प्राध्‍यापकों का आभार जताया।

कुलपति ने अपने संबोधन में कहा कि मैं भी रांची विश्‍वविद्यालय का ही एक छात्र हूं और आज जो कुछ हूं अपने गुरूओं के आशिर्वाद से हूं।

कार्यक्रम में आये सभी सेवानिवृत प्राध्‍यापकों को संबोधित करते हुये उन्‍होंने कहा कि गुरू कभी सेवानिवृत नहीं होते।

हमें आप के मार्गदर्शन की सदैव आवश्यकता होती है और आप का सानिध्‍य हमें प्राप्‍त होता है।

कुलपति ने कहा कि हमें विश्वगुरु बनना है, इसके लिये गुरुओं की ही आवश्यकता है। भारत ज्ञान को फैलाने वाला देश है।

साथ ही कहा कि सेवानिवृत्त शिक्षक भी अपने विभाग को एकाएक न छोड़ें। गुरू होना अपने आप में ही एक जिम्मेदारी का बोध कराता है

और सर्वपल्ली राधाकृष्‍णन , कलाम, रवीन्द्र नाथ टैगोर, आचार्य कृपलानी सरीखे लोगों ने भी बतौर शिक्षक कार्य किया।

कुलपति ने इस अवसर पर सेवारांची विश्‍वविद्यालय को देश में उत्‍कृष्‍ट स्‍थान दिलाने के लिये कई योजनाओं की भी चर्चा की।

उन्‍होंने बताया कि हमारा अकादमिक क्षेत्र बहुत सशक्‍त है। देश की 40 प्रतिशत आबादी युवा है, जर्नलिज्‍म समेंत कई क्षेत्रों में हम यूरोप अमेरिका से भी आगे हैं।

हमारे युवा विश्‍व भर में उच्‍च पदों पर हैं। विद्यार्थियों को खेल एवं फिजिकल गतिविधियों से जोड़ना और प्राध्‍यापकों को शैक्षणिक कार्यों के अलावा अन्‍य जिम्मेदारियों से दूर रखना एवं शोध को बढावा देना हमारा प्रयास है।

इन सभी कार्यों को संपन्‍न्‍न करने के लिये हमें सेवानिवृत शिक्षकों के भी सहयोग की आवश्‍यकता होगी।

इस गुरू वंदन पर्व में कई सेवानिवृत प्राध्‍यापकों को शॉल ओढा कर सम्‍मानित किया गया।

गुरू वंदन पर्व कार्यक्रम का संचालन मंजू गार्गी ने किया। इस अवसर पर कुलसचिव एम सी मेहता, वोकेशनल की डिप्‍टी डायरेक्‍टर डॉ. स्‍मृति सिंह, परीक्षा नियंत्रक डॉ. आशीष झा, वित्त पदाधिकारी डॉ. कुमार ए.एन.शाहदेव, डॉ.प्रीतम कुमार ,सभी संकायों के डीन , हेड, एनएसएस के ब्रजेश कुमार , सारे विभागों से प्राध्‍यापक तथा मीडिया के लोग उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खबरें एक नजर में….