प्रेग्नेंसी के दौरान उच्च रक्तचाप के कारण होने वाली परेशानी को कैसे दूर करें, एनेमिया के निदान से जुड़ी जानकारी की गई साझा

 

फोग्सी ईस्ट जोनल कांफ्रेंस विद युवा का समापन

RANCHI:  होटल बीएनआर चाणक्य में चल रहे तीन दिवसीय सम्मेलन फोग्सी ईस्ट जोनल कॉन्फ्रेंस विद युवा-2022 का समापन रविवार काे हुआ।

सम्मेलन के अंतिम दिन साइंटिफिक सेशन के तहत विभिन्न विषयों पर पैनल डिस्कशन हुआ।

इस दौरान पैनल में बैठे पैनलिस्ट से टॉपिक पर परिचर्चा के बाद संबंधित विषय पर प्रश्न पूछे गए।

उन्हें प्रश्न के रूप में बीमारी की स्थिति के बारे सवाल पूछा गया, जिसका जवाब पैनल में बैठे चिकित्सकों ने बारी-बारी दिए।

ऑर्गनाइजिंग कमेटी की चेयरपर्सन डॉ. सुमन सिन्हा ने बताया कि पैनल डिस्कशन में डॉ. आशीष मुकोपाध्याय और डॉ. शशि बाला ने प्रेग्नेंसी के दौरान उच्च रक्तचाप के कारण होने वाली परेशानी और उसका निदान बताया।

जानकारी देते हुए कहा कि अगर रक्तचाप को नियंत्रण में न रखा जाए तो गर्भावस्था के 20वें सप्ताह तक यह अवस्था प्री-एकलैमप्सिया का रूप ले सकती है, जिसे टॉक्सेमिया या फिर गर्भावस्था जनित उच्च रक्तचाप कहते हैं।

यह एक गंभीर स्थिति है जिसके कारण आपके मस्तिष्क के साथ ही शरीर के अन्य अंगों में घातक प्रभाव पड़ता है।

इसके अलावा महिलाओं में एनेमिया के कारणों और उसके निदान पर भी परिचर्चा की गई।

ऑर्गनाइजिंग सेक्रेटरी डॉ. किरण त्रिवेदी और डॉ. अर्चना कुमारी ने बताया कि पैनल डिस्कशन के अलावा कॉन्फ्रेंस के दौरान क्विज प्रतियोगिता भी जूनियर डॉक्टरों के बीच कराई गई। कुल 12 टीमों के बीच यह प्रतियोगिता हुई,

जिसमें फाइनल राउंड के लिए चार मेडिकल कॉलेज के चिकित्सक को चुने गए।

जबकि फाइनल राउंड में एम्स भुवनेश्वर की डॉ. निमिशा और डॉ. ज्ञान रंजन विजेता रहे। समापन के मौके पर ई-पेपर और क्विज के विजेताओं को पुरस्कृत किया गया।

इसके अलावा आयोजन समिति के सदस्याें ने सम्मेलन को सफल बनाने में जिनकी भी भूमिका रही सभी का आभार व्यक्त किया।

बताते चले कि इस कॉन्फेंस में करीब 650 चिकित्सक देश के कोने-कोने से पहुंचकर तीन दिनों तक शामिल होकर इसे सफल रूप दिया।

आयोजन में मुख्य रूप से फोग्सी की अध्यक्ष डॉ. एस शांता कुमारी, ऑर्गनाइजिंग चेयरपर्सन डॉ. सुमन सिन्हा, डॉ. प्रति बाला सहाय, सेक्रेटरी डॉ. किरण त्रिवेदी, डॉ. अर्चना कुमारी, डॉ. गीता सिन्हा मानकी, डॉ. ब्यूटी बनर्जी, डॉ. अर्चना पाठक समेत अन्य का योगदान रहा।

डॉ. बसाब ने सुरक्षित गर्भपात करने पर दिया व्याख्यान

कॉन्फ्रेंस के दौरान फोग्सी ईस्ट जोन के वाइस प्रेसिडेंट डॉ. बसाब चक्रवर्ती ने मेकिंग अबॉर्सन सेफ (सुरक्षित गर्भपात) विषय पर अपना व्याख्यान दिया।

उन्होंने उपस्थित चिकित्सकों को बताया कि कैसे जरूरत पड़ने पर सुरक्षित तरीके गर्भपात कराया जा सकता है।

इसके अलावा डॉ. हेमलिना गौतम और डॉ. अभिषेक ने औरतोें की सुरक्षा से जुड़े पहलुओं पर चर्चा की।

डॉ. किरण ने बताया कि ईस्ट जोन में ओड़िशा, बिहार, झारखंड, पश्चिम बंगाल और नोर्थ ईस्ट है।

हर बार रोटेशन के आधार पर एक ही बार कॉन्फ्रेंस के आयोजन का मौका मिलता है, इस बार यह मौका रांची को मिला था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *