झारखंड की राजनीति में फिर भूचाल की संभावना,राज्यपाल रमेश बैस गये दिल्ली

 

RANCHI:  झारखंड में विगत एक सप्ताह से चल रहे राजनीतिक अस्थिरता के माहौल से राज्य में भूचाल की स्थिति बनी हुई है। मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन की विधनसभा सदस्यता खतरे में होने को लेकर यूपीए नेताओं सहित आम लोगों में असमंजस की स्थिति बना हुई है।

गुरुवार को यूपीए के नेताओं ने राज्यपाल रमेश बैस से मिल कर स्थिति स्पष्ट करने का आग्रह किया था। राज्यपाल रमेश बैस ने यूपीए नेताओं को बताया था कि चुनाव आयोग से पत्र आया है। विधि विशेषज्ञों से राय मशविरा लिया जा रहा है। एक दो दिनों में स्थिति स्पष्ट हो जायेगी।

इसी बीच शुक्रवार को राज्यपाल रमेश बैस दिल्ली चले गये हैं। जिसको लेकर राज्य में फिर राजनीति में भूचाल की संभावना उत्पन्न हो गयी है। राज्यपाल रमेश बैस पर सभी की नजरें टिकी हुई है।

राजनीतिक विशेषज्ञों के अनुसार राज्यपाल रमेश बैस केन्द्रीय नेतृत्व से उक्त मामले में राय मशविरा करेंगे। उसके बाद उन्हें जो दिशा निर्देश मिलेगा उसी पर वे अमल करेंगे।

जानकारों का मानना है कि हेमंत सोरेन की विधान सभा सदस्यता रद्द होने के बाद भी राज्य में महागठबंधन की सरकार का गठन फिर से नये सिरे से हो जायेगा। क्योंकि सरकार चलाने के लिए महागठबंधन के पास संख्या बल पर्याप्त है। और सभी यूपीए फोल्डर के नेता, विधायक एकजूट है।

जिसका प्रदर्शन विगत दिनों मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के नेतृत्व में विधायकों एवं मंत्रियों को तीन वोल्वो बस में लेकर पिकनिक के लिए खूंटी के लतरातु डैम ले जाया गया। वहीं  मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन दूसरी बार विधायकों एवं मंत्रियों को  चार्टर प्लेन से भेजकर  नवा रायपुर के रिसोर्ट में ठहराया जहां विधायकों एवं मंत्रियों ने जमकर पिकनिक मनाया और लजीज व्यंजनों का लुत्फ उठाया।

इसके बावजूद भी यूपीए नेताओं में सरकार गिरने की चिंता सता रही है।

यूपीए के नेताओं एवं सरकार में मंत्री पद पर बैठे विधायकों में चिंता देखी जा रही थी। राज्यपाल पर सब की नजरें टिकी है। अगर हेमंत सोरेन की सदस्यता रद्ध हो ती है तो राज्य में  नयी सरकार के गठन में  मुख्यमंत्री का चेहरा बदलने के साथ कई नये चेहरे के भी मंत्री बनने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता है। क्योंकि यूपीए में कई विधायक मंत्री बनने की जुगाड़ में लगे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *