रिम्स न्यूरो सर्जरी की टीम ने फिर बुलेट इंजरी का किया सफल ऑपरेशन

 

RANCHI : रिम्स में एक बार फिर बुलेट इंजरी के मरीज का सफल आपरेशन किया गया।

मोरहाबादी के रहने वाले प्रीतम कुमार सिंह जब 7 अगस्त 2022 को काम से अपने घर लौट रहे थे तभी चार पांच लोगों ने उन पर गोली चला दी।

मरीज़ प्रीतम सिंह को तत्काल इमरजेंसी में डॉक्टर आर जी बाक्सला की यूनिट में भर्ती कराया गया उसके बाद तत्काल पेट का ऑपरेशन किया गया।

उसके बाद  18 अगस्त को रिम्स के न्यूरोसर्जरी विभाग में डॉक्टर प्रोफेसर सी बी सहाय के यूनिट में भर्ती कराया गया।

जांच के दौरान पता चला की मरीज के शरीर में दो गोली फंसी हुई है। उसमें से एक गोली कमर की हड्डी को चीरती हुई स्पाइनल कॉर्ड में जाकर फस गई थी

तथा दूसरी गोली छाती में रिब्स के पास जाकर फंस गई थी।स्पाइनल कॉर्ड के पास फंसी गोली की वजह से मरीज के पैर की ताकत काफी कम हो गई थी।

स्पाइनल कॉर्ड से बुलेट निकालना डॉक्टरों के लिए एक बड़ी चुनौती थी क्योंकि इसे निकालना काफी मुश्किल होता है

साथ ही पैर की ताकत पूरी तरह से जाने का खतरा या फिर जान पर भी खतरा बना रहता है।

31 अगस्त को न्यूरो सर्जरी डिपार्टमेंट के विभागाध्यक्ष डॉ सीबी सहाय, डॉ विराट हर्ष, डॉ विवेक राज, डॉ विकास कुमार, डॉ अशोक मुंडा, डॉ दीपक तथा सर्जरी डिपार्टमेंट के डॉ सनी, डॉ सब्यसाची द्वारा मरीज़ का सफल ऑपरेशन कर बुलेट को निकाला गया।

इस ऑपरेशन में एनेस्थीसिया डिपार्टमेंट के डॉ अमित और डॉ आस्था भी शामिल थें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खबरें एक नजर में….