विश्व स्वास्थ्य संगठन की STAG-MNS सलाहकार समूह में शामिल होंगे प्रो.(डॉ.) कामेश्वर प्रसाद

 

भारत से एकमात्र न्यूरोलॉजिस्ट हैं रिम्स निदेशक 

RANCHI:  प्रो.(डॉ.) कामेश्वर प्रसाद, निदेशक, राजेंद्र आयुर्विज्ञान संस्थान (रिम्स) को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) द्वारा मानसिक स्वास्थ्य, मस्तिष्क स्वास्थ्य और मादक पदार्थों के उपयोग पर रणनीतिक और तकनीकी सलाहकार समूह (STAG-MNS) में शामिल होने के लिए आमंत्रित किया गया है।

इस समूह में प्रो. प्रसाद भारत से एकमात्र न्यूरोलॉजिस्ट हैं। यह झारखंड और रिम्स के लिए गर्व की बात है।

विश्व स्तर पर मानसिक, न्यूरोलॉजिकल और मादक पदार्थों के उपयोग (MNS) से होने वाले प्रभावों में वृद्धि हो रही है, ऐसे में WHO ने STAG-MNS के सदस्यों के रूप विशेषज्ञों से सेवा प्रदान करने की मांग की थी।

ये विशेषज्ञ WHO के महानिदेशक को मानसिक स्वास्थ्य, न्यूरोलॉजिकल संबंधी विकार, मादक द्रव्यों के सेवन और उस से उत्पन्न होने वाली व्यसनी व्यवहार से सम्बंधित मुद्दों पर सलाह देंगे।

MNS से जुड़ी बीमारियों का वैश्विक बोझ 10% से अधिक है वहीं गैर-घातक बीमारी का बोझ लगभग 30% है।

इसके बावजूद अधिकांश देशों के स्वास्थ्य एजेंडा में मानसिक और मस्तिष्क स्वास्थ्य और मादक द्रव्यों के दुरूपयोग को कम प्राथमिकता दी जाती है|

मई 2021 में 76वीं विश्व स्वास्थ्य सभा के दौरान, व्यापक मानसिक स्वास्थ्य कार्य योजना 2013-2020 को 2030 तक विस्तारित करने का निर्णय लिया गया था।

साथ ही STAG-MNS सतत विकास लक्ष्य (SDG) 2030 में उल्लिखित स्वास्थ्य संबंधी लक्ष्यों को आगे बढ़ाने में WHO को सहयोग करेगा|

सतत विकास लक्ष्य 2030 मानसिक स्वास्थ्य को बढ़ावा देने और मादक द्रव्यों के सेवन की रोकथाम और उपचार को मजबूत करने पर केंद्रित है।

सलाहकार समूह के सदस्य वर्तमान और भविष्य की चुनौतियों की पहचान करने, रणनीतिक दिशाओं को प्राथमिकता देने, वैश्विक रणनीतिक दस्तावेज और WHO द्वारा कार्यान्वयन के लिए रणनीतिक हस्तक्षेप और अन्य गतिविधियों के लिए प्रस्ताव तैयार करने की दिशा में काम करेंगे।

प्रत्येक सदस्य को दो साल की अवधि के लिए सेवा के लिए नियुक्त किया जाएगा।

प्रो. प्रसाद को न्यूरोलॉजी के क्षेत्र में काफी लम्बा अनुभव है और यह समूह के लिए हितकारी साबित होगा|

उन्हें एविडेंस-बेस्ड हेल्थकेयर (EBHC) के वकील के रूप में भी जाना जाता है।

भारत सरकार द्वारा उन्हें चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म श्री से सम्मानित किया गया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खबरें एक नजर में….