सरकारी चिकित्सकों के ड्यूटी अवधि के अतिरिक्त प्राइवेट प्रैक्टिस पर लगी रोक हटाने का निर्णय

 

स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता की अध्यक्षता में त्रिपक्षीय समीक्षात्मक बैठक संपन्न 

मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट का प्रारुप तैयार

आयुष्मान भारत का बकाया भुगतान करने का निर्णय

RANCHI: विकास आयुक्त के कार्यालय में स्वास्थ्य मंत्री की अध्यक्षता में अपर मुख्य सचिव की मौजूदगी में आई एम ए एवं झासा के प्रतिनिधिमंडल के साथ त्रिपक्षीय समीक्षात्मक बैठक संपन्न हुई.

बैठक में सरकारी चिकित्सकों के अपने निर्धारित ड्यूटी के अतिरिक्त प्राइवेट प्रैक्टिस पर लगी रोक को हटाने का निर्णय लिया गया.

आयुष्मान भारत मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से संबंधित अस्पतालों में भी सरकारी चिकित्सक कुछ शर्तों के साथ अधिकतम 4 निजी अस्पतालों में अपनी सेवा दे सकते हैं,

लेकिन विभाग यह सुनिश्चित कर लेगी कि चिकित्सक द्वारा दी गई सेवा उनकी अपनी ड्यूटी के अतिरिक्त अवधि में दी गई है या नहीं और सरकारी चिकित्सक अपने पदस्थापित सरकारी अस्पताल में आयुष्मान से संबंधित कार्य ईमानदारी से करते हैं या नहीं

21 विशेषज्ञ नेत्र चिकित्सक को प्रपत्र का आरोप से संबंधित कारण बताओ नोटिस के संबंध में निष्कर्ष निकला कि जांच चल रही है और जो दोषी नहीं पाए जाएंगे उन्हें इससे मुक्त कर दिया जाएगा.

झारखंड राज्य की भौगोलिक और यहां के जनता की आर्थिक स्थिति को देखते हुए क्लिनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट मे बदलाव की जरूरत है.

संगठन को विभाग एवं सरकार के द्वारा आश्वासन दिया गया कि इसे क्रमशः तैयार कर ले

इसमें जरूरी सुधार किए जाएंगे विभाग प्रयास करेगा की हरियाणा के तर्ज पर 50 बेड से कम वाले अस्पतालों को राहत दी जाए

मेडिकल प्रोटेक्शन एक्ट का प्रारूप विभाग द्वारा तैयार कर लिया गया है, जिसमें मरीजों एवं चिकित्सकों दोनों का ख्याल रखा गया है.

इसे जल्दी ही आई एम ए एवं झासा से शेयर किया जाएगा.

आयुष्मान भारत मुख्यमंत्री जन आरोग्य योजना से संबंधित अस्पताल के पेमेंट की बात हुई और इसके लिए अध्यक्ष, आई एम ए ,रांची को चिन्हित अस्पतालों जिनका पेमेंट बाकी है की सूची बनाकर ईडी के साथ समन्वय बनाकर बात करने को अधिकृत किया गया और बकाया राशि रिलीज कर दिया जाएगा ,ऐसा आश्वासन दिया गया

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन एवं झारखंड राज स्वास्थ्य सेवा संघ झारखंड ने  स्वास्थ्य मंत्री  को इस त्रिपक्षीय समीक्षात्मक बैठक के आयोजन के लिए धन्यवाद दिया

 

और अपर मुख्य सचिव कि चिकित्सकों के प्रति सकारात्मक सोच एवं लिए गए निष्कर्ष के लिए आभार व्यक्त किया.

बैठक में आई एम ए के प्रदेश अध्यक्ष डॉ अरुण कुमार सिंह, सचिव डॉ प्रदीप सिंह ,झासा के प्रांतीय सचिव डॉ विमलेश सिंह, आईआईएम रांची के अध्यक्ष डॉo शंभू प्रसाद सिंह, रिम्स निदेशक डॉ कामेश्वर प्रसाद, हॉस्पिटल बोर्ड ऑफ इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष डॉ आर एस दास, झासा के राज्य संयोजक डॉ ठाकुर मृत्युंजय कुमार सिंह, उपाध्यक्ष दक्षिण छोटानागपुर प्रमंडल डॉo पी पी शाह, आई एम ए स्टेट मेडिकल एकेडमिक के चेयरमैन डॉo अबीर चक्रवर्ती उपस्थित हुए.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

खबरें एक नजर में….