रिम्स का जनऔषधि केन्द्र मरीजों के लिए परेशानी का सबब बना,ना तो पर्याप्त दवाएं उपलब्ध है और ना ही जरुरी दवाएं

 

RANCHI: झारखंड का प्रमुख चिकित्सा संस्थान, रिम्स में संचालित जनऔषधि केन्द्र भर्ती गरीब  मरीजों के लिए  परेशानी का सबब बन गया है।

रिम्स प्रबंधन ने मरीजों की सुविधा के लिए सस्ती दर पर आवश्यक दवाएं उपलब्ध कराने का दावा के साथ जन औषधि केन्द्र की शुरुआत की, लेकिन नतीजा यह है कि औषधि केन्द्र में ना तो पर्याप्त दवाएं उपलब्ध है और ना ही मरीजों को जरुरी दवाएं ही मिल पा रही है। थक हार कर मरीज के परिजन  मंहगी ब्रांडेड दवाएं खरीदने को विवश हो रहे हैं।

दवा खरीदने के लिए जन औषधि के न्द्र में पहुंचे मरीज के परिजनों ने जन औषधि केन्द्र को पूरी तरह बेकार बताया और कहा कि इससे अच्छा तो पहले जो दवाई दोस्त की दुकान थी उसमें तो कम से कम दवा उपलब्ध तो रहती थी और दवा की कीमत में भी छूट दी जाती थी। लेकिन जन औषधि केन्द्र में कहने को तो साढ़े सात सौ दवाओं की सूची है लेकिन जन औषधि केन्द्र में सूची के अनुसार उससे आधे से भी कम दवाएं उपलब्ध है।

इस संबंध में जन औषधि केन्द्र के दवा बेचने वाले सेल्स मैन से पूछे जाने पर बताया कि दवा की कमी का मुख्य कारण कंपनी को दवा की आर्डर देने के बावजूद दवा की आपूर्ति में देरी होना है साथ ही रिम्स प्रबंधन द्वारा आश्वस्त किया गया था कि दवा रखने के लिए एक और दूकान स्टोर के लिए उपलब्ध कराया जायेगा।

लेकिन अभी तक दवा स्टोर करने के लिए दुकान उपलब्ध नहीं कराया गया है जिसके कारण भी दवा दुकान में कई जरुरी दवाएं दवा रखने की जगह नहीं है। दवा दुकान में सभी रैक दवा से भरे पड़े हैं। दवा खरीदने आने वाले मरीज के परिजन सस्ती और गुणवत्तायुक्त  जेनरिक दवा लेने के आस में घंटों दुकान के काउंटर पर खड़े रहते हैं।

सबसे ज्यादा परेशानी मरीज के परिजनों को कड़ी धूप में और बारिश के मौसम में  दुकान के सामने खड़े रहना पड़ता है दुकान के पास ना ही कोई शेड बनाया गया है और ना ही मरीज के बैठने की व्यवस्था ही की गयी है जिसके कारण मरीज के साथ परिजनों को भी काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। रिम्स प्रबंधन इस दिशा में कोई सार्थक पहल नहीं कर रही है।

इस संबंध में रिम्स के उपाधीक्षक डॉ शैलेश त्रिपाठी से पूछे जाने पर कहा कि जल्द ही जन औषधि केन्द्र में पर्याप्त दवाएं उपलब्ध कराया जायेगा। साथ ही मरीज और परिजनों की परेशानी को देखते हुए दवा दुकान के सामने शेड लगाने का निर्देश दिया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *