योग करने से आत्मा और परमात्मा के बीच बनता है आध्यात्मिक रिश्ताः बन्ना गुप्ता

स्वास्थ्य मंत्री ने किया 8 वां अन्तरष्ट्रीय योग दिवस का शुभारंभ

68 हेल्थ एंड वेलनेस सेंटर,एम्बुलेंस एप एवं दूरदर्षिका का किया उद्घाटन

 

RANCHI:  बन्ना गुप्ता, मंत्री स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग, झारखण्ड की अध्यक्षता में 8वाँ अन्तराष्ट्रीय योग दिवस का शुभारंभ किया गया।

इस अवसर पर  मंत्री ने 68 हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर, हेल्थ एण्ड वेलनेस सेन्टर का विडियों, एम्बुलेन्स एप, आयुष वेवसाईट तथा झारखण्ड एम्बुलेंस दूरदर्षिका का शुभारंभ किये।

मंत्री ने कहा कि अन्तराष्ट्रीय योग दिवस दुनिया के 177 देश में मनाया जा रहा है। लेकिन यदि सही मायने में बोला जाए तो इसका जन्म हमारे ऋषि-मुनियों तथा भारत के देवदूतो ने किया है और यह भारत से चलकर दुनिया के 177 देश योग दिवस के रूप में को मनाया जा रहा है।

मंत्री ने कहा कि योग मन को शांत करने की ऐसी व्यवस्था है जिससे मन शांति की ओर जाता है। योग हमारे तन को गरम, मन को शांत और पेट को नरम करने की ऐसी व्यवस्था है, जिस व्यवस्था से हम न सिर्फ शारीरिक रूप से बल्कि मानसिक रूप से भी मजबूत होते है।

हमारे रसोई घर में एक छोटा-मोटा अस्पताल होता है। उसी अस्पताल में दालचीनी, ईलाइची, लौंग, गोलकी जो हमारी घर में मिलती है। यदि हम इसका सही तरीके से इस्तेमाल करेंगे तो हमारा पित,वात  अन्य विकार भी दूर हो जायेगे।

मंत्री ने कहा कि व्यायाम करना अच्छी बात है लेकिन योग करने से आत्मा तथा परमात्मा की बीच एक आध्यात्मिक रिश्ता बनता है। यदि हम ओम भी कहते है तो बहुत सारी चीजें ऑक्सीजन के रूप में हमारे शरीर में समाहित हो जाती है। योग करने से हमारा शरीर बलबान तथा मानसिक रूप से मजबूत होता है।

हम जितना व्यायाम करके नहीं कर सकते है उससे ज्यादातर योग के माध्यम से हम अपने शरीर को रोग मुक्त रख सकते है।
माननीय मंत्री ने कहा कि स्वास्थ्य की दिशा और दशा बदलने में हमारी 40,000 सहिया बहनों का योगदान बहुत ही महत्वपूर्ण है।

मंत्री ने सहिया के अच्छे कार्यों को तीन स्वर्ण अवार्ड, सिल्वर अवार्ड तथा ब्रांज अवार्ड दे रहा हूँ। सहिया के मानदेय हेतु केन्द्र सरकार, राज्य सरकार के पास मैने प्रस्ताव दिया है।
अरूण कुमार सिंह, अपर मुख्य सचिव, स्वास्थ्य, चिकित्सा शिक्षा एवं परिवार कल्याण विभाग ने कहा कि योग के जीवन पद्धति को अन्तराष्ट्रीय स्तर पर मान्यता मिली और पूरे विश्व में योग दिवस मनाया जा रहा है।

योग के द्वारा हम अपने मन को शांत रख सकते है साथ ही कैसे जीवन को बेहतर बना सकते है और कैसे हम शरीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रह सकते है, अच्छा सोच सकते है समाज को अच्छा कर सकते है, यही योग के पीछे छिपी भावना है।

योग हमारे जीवन शैली में शामिल होना चाहिए और रोज हमे योग करना चाहिए। सरकार ने हेल्थ और वेलनेस सेन्टर पर बल दिया है। राज्य के कौने-कौने में हेल्थ और वेलनेस सेन्टर से योग को जोड़ा जा रहा है।

कैसे हम बीमारियों को होने से बचाये और उनकी रोकथाम करे कि बीमारी हो ही न, न दवाई का सेवन करें। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव के द्वारा आयुष ग्राम के जन प्रतिनिधियों के बीच औषधिय पौधो का वितरण किया गया।

योग प्रशिक्षकः- पी0एन0 सिंह, प्रो0 प्रसन्ना डेविड  अविनीस कुमार, सुश्री अर्चना कुमारी

इस अवसर पर डाॅ0 भुवनेश प्रताप सिंह नोडल पदाधिकारी आयुष, आदित्य कुमार आनन्द, अभियान निदेशक राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन झारखण्ड, डाॅ0 मार्शल आईद निदेशक प्रमुख, स्वास्थ्य सेवाएँ, डाॅ फजलुस समी निदेशक आयुष, राजीव कुमार, प्रोजेक्ट काॅओडिनेटर राहुल कुमार नोडल पदाधिकारी नेशनल आयुष मिशन,  दिवाकर झा नोडल पदाधिकारी, आयुष, डाॅ0 एल0 आर0 पाठक, नोडल पदाधिकारी, डाॅ0 अनिल कुमार नोडल पदाधिकारी परिवार नियोजन उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *