एयरपोर्ट सलाहकार समिति की बैठक में सांसद संजय सेठ ने दिये कई निर्देश

सिर्फ ₹1.92 प्रति किलो के दर पर परदेश पहुंच रही सब्जियां, इसका किसानों के बीच व्यापक प्रचार करें

सीएसआर के तहत प्रभावित गांवों का विकास करें, ग्रामीणों के साथ आत्मीय संबंध बनाएं

जून से शुरू होगा 2 एयरोब्रिज, दिसंबर तक पूर्ण होगा कोल्ड स्टोरेज, एक्सरे फ्री हो जाएगा एयरपोर्ट

RANCHI: भगवान बिरसा मुंडा एयरपोर्ट रांची के सलाहकार समिति की बैठक सांसद सह समिति के अध्यक्ष संजय सेठ की अध्यक्षता में संपन्न हुई।

बैठक में एयरपोर्ट में यात्री सुविधाओं के विस्तार, कार्गो सुविधाओं के विस्तार सहित कई अन्य प्रमुख मुद्दों पर चर्चा हुई।

बैठक के दौरान सांसद श्री सेठ ने स्पष्ट निर्देश दिया की काम धरातल पर दिखना चाहिए और आम जनता तक यह संदेश स्पष्ट जाना चाहिए कि एयरपोर्ट के माध्यम से जनसेवा के क्षेत्र में क्या-क्या कार्य किए जा रहे हैं।

सांसद ने बैठक में रांची से दूसरे शहरों में जाने वाले फल और सब्जियों की जानकारी ली, जिसमें यह बताया गया कि प्रतिदिन लगभग 22 टन मटर, बींस और लीची रांची से विभिन्न शहरों की भेजा जा रहा है।

लीची प्रतिदिन हैदराबाद व बेंगलुरु आदि शहरों को भेजा जा रहा है जबकि सब्जियां हैदराबाद, बेंगलुरू, मुंबई, अहमदाबाद जैसे शहरों को भेजी जा रही है।

सांसद ने यह निर्देश दिया कि इस क्षेत्र में किसानों से समन्वय बनाए और किसानों के बीच इसका व्यापक प्रचार प्रसार करें ताकि किसान बिना बिचौलिया के अपनी सब्जी सीधे एयरपोर्ट को पहुंचा सकें।

सांसद ने बताया कि 2 वर्ष पूर्व उन्होंने तत्कालीन नागरिक उड्डयन मंत्री हरदीप सिंह पुरी जी से रांची में सब्जियों की खेती के विषय में बताया था। और किसानों के लिए किराया में रियायत देने का आग्रह किया था। जिसके आलोक में अब यहां से सिर्फ ₹1.92 प्रति किलो के हिसाब से फल और सब्जियां यहां से बाहर भेजी जा रही हैं।

श्री सेठ ने अधिकारियों से पूछा कि रांची एयरपोर्ट में बनने वाले कोल्ड स्टोरेज की क्या स्थिति है? तो बताया गया कि 5 मिट्रिक टन क्षमता वाला कोल्ड स्टोरेज बनाने का काम प्रक्रियाधीन है।

और दिसंबर तक पूर्ण हो जाएगा। वही सांसद ने यात्रियों के लिए एयरपोर्ट पर मेडिकल सुविधा के संबंध में जानकारी मांगी तो बताया गया कि यहां मेडिकल की सुविधा उपलब्ध है। सांसद ने यह भी निर्देश दिया कि एयरपोर्ट पर जनहित में जो भी काम हो रहे हैं, जो नई नई बातें सामने आ रही है,

जो नई जानकारियां सामने आ रही है, इसको लेकर पत्रकारों के साथ अपनी जानकारी साझा करें। तभी जनता को आपके द्वारा उपलब्ध की गई सुविधाएं पता चल सकेगी।

वही सीएसआर को लेकर उन्होंने स्पष्ट निर्देश दिया कि यह सुनिश्चित करें कि सीएसआर के तहत जो गांव प्रभावित हैं, विस्थापित हैं, वहां के ग्रामीणों को बेहतर जीवन स्तर के लिए काम किया जाए।

पानी, बिजली, सड़क, स्वास्थ्य जैसी जरूरतों पर काम हो ताकि जनता का जुड़ाव एयरपोर्ट से और बेहतर तरीके से हो सके।

बैठक में सांसद ने यह भी निर्देश दिया कि मानसून शुरू होने वाला है, यहां जलजमाव और भारी बारिश के दौरान यात्रियों को काफी समस्या का सामना करना पड़ता है।
ऐसी स्थिति में यह व्यवस्था सुनिश्चित करें कि बरसात में किसी भी यात्री का सामान नहीं भींगे। उन्हें कोई समस्या नहीं हो। जहां तक यात्री की गाड़ी खड़ी हो वहां तक बिना भीगे जा सके, ऐसी व्यवस्था एयरपोर्ट प्रबंधन को करनी चाहिए।

इसके साथ ही उन्होंने दरभंगा, बनारस, रायपुर, भुवनेश्वर के लिए हवाई सेवा पर विचार करने की बात कही और विभिन्न एयरलाइंस कंपनियों के प्रतिनिधियों को बताया यहां से बड़ी संख्या में यात्री दरभंगा और बनारस की यात्रा करते हैं। ऐसे में यदि यहां विमान सेवा जितनी जल्दी शुरू होगी, जनता को उतनी सहूलियत होगी और एयरपोर्ट को राजस्व की प्राप्ति भी होगी।

वहीं सांसद ने कहा कि एयरपोर्ट पर जब कोई वीआईपी मूवमेंट होता है तो आम यात्रियों को परेशानी होती है। कई बार पत्रकार वार्ता के क्रम में, कई बार अन्य तरह के कार्यक्रमों को लेकर भीड़ हो जाती है,

जिसके वजह से आमयात्री ज्यादा परेशान होते हैं। प्रबंधन यह सुनिश्चित करें कि ऐसे कार्यक्रमों के लिए, स्वागत के लिए, पत्रकार वार्ता के लिए एयरपोर्ट के बाहर एक अलग व्यवस्था बनाई जाए ताकि आम यात्री इससे प्रभावित नहीं हो।

इस बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि अभी दो एयरोब्रिज यहां काम कर रहा है, जून से दो और एयरोब्रिज शुरू हो जाएगा। इसके साथ ही बहुत जल्द ही रांची एयरपोर्ट भी एक्स-रे फ्री हो जाएगा तो यात्रियों का इससे समय भी बच सकेगा।

एयर एंबुलेंस से जुड़ी जानकारियों को भी साझा करने व आम लोगों तक इसकी जानकारी उपलब्ध कराने का सुझाव भी सदस्यों ने दिया।

सदस्यों ने यह भी सुझाव दिया की पार्किंग का एक लेन स्पष्ट रेखांकित किया जाए ताकि एयरपोर्ट पर किसी तरह का जाम नहीं लगे। इसके अतिरिक्त एयरपोर्ट के आसपास के गांव के विकास की दिशा में भी सदस्यों ने कई सुझाव दिए ताकि भविष्य में इस एयरपोर्ट से आम ग्रामीण भी खुद को जुड़ा हुआ महसूस करें।

एयरपोर्ट के विस्तार में सहयोग कर सकें। बैठक में प्रमुख रूप से एयरपोर्ट के निदेशक के० आर० अग्रवाल, सलाहकार समिति के सदस्य भानु जालान, छवि विरमानी, रामप्रसाद जालान, विभिन्न विमान कंपनियों के प्रतिनिधि, स्थानीय प्रशासनिक अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *