भारत-ऑस्ट्रेलिया डार्विन में समुद्री पेट्रोल टोही विमान के साथ करेंगे अभ्यास

(नई दिल्ली) : भारतीय नौसेना रॉयल ऑस्ट्रेलियाई वायु सेना के साथ समुद्री गश्ती अभियान में एक साथ हिस्सा लेंगी। समन्वित संचालन में भाग लेने के लिए नौसेना का एक पी-8आई समुद्री गश्ती और टोही विमान ऑस्ट्रेलिया के डार्विन पहुंच गया है। ऑस्ट्रेलिया में प्रवास के दौरान भारतीय नौसेना की समुद्री पेट्रोल स्क्वाड्रन, अल्बाट्रॉस का दल और रॉयल ऑस्ट्रेलियाई वायु सेना के 92 विंग के अपने समकक्षों के साथ संचालन करेंगे।
नौसेना प्रवक्ता के अनुसार दोनों देशों के पी-8आई विमान, समुद्री क्षेत्र में जागरुकता बढ़ाने के लिए, पनडुब्बी रोधी युद्ध और सतह निगरानी के लिए एक साथ अभ्यास का संचालन करेंगे। विमान के चालक दल डार्विन में एक समन्वित संचालन को अंजाम देंगे। अपने प्रवास के दौरान भारतीय नौसेना की समुद्री पेट्रोल स्क्वाड्रन, अल्बाट्रॉस का दल और रॉयल ऑस्ट्रेलियाई वायु सेना के 92 विंग के अपने समकक्षों के साथ संचालन करेंगे। समुद्र में द्विपक्षीय और बहुपक्षीय अभ्यासों के माध्यम से दोनों समुद्री राष्ट्रों के बीच बढ़ते वार्तालाप ने दोस्ती को और मजबूत बनाया है।
उन्होंने बताया कि पी-8आई विमान ने अपनी लंबी दूरी की पहुंच के साथ मालाबार और एयूएसआईएनडीईएक्स शृंखला अभ्यासों के दौरान संयुक्त रूप से अपनी क्षमता का शानदार प्रदर्शन किया है। दोनों देशों ने संचालन प्रक्रियाओं और सूचनाओं को साझा करने में समान भूमिका निभाई है। इंडोनेशिया और उत्तरी ऑस्ट्रेलिया के बीच का समुद्री जलक्षेत्र दोनों देशों के लिए अहम होने के साथ ही यह हिंद महासागर क्षेत्र का प्रवेश द्वार भी है। भारत और ऑस्ट्रेलिया दोनों ही सामरिक हितों को साझा करते हैं और इस क्षेत्र में एक स्वतंत्र और मुक्त भारत-प्रशांत क्षेत्र एवं नियम आधारित व्यवस्था को बढ़ावा देते हैं।