झारखंड कांग्रेस में भी संकट! अब अपने ही 4 मंत्रियों से नाराज विधायक; राहुल गांधी से मिलेंगे

नई दिल्ली । झारखंड (Jharkhand) की गठबंधन सरकार में शामिल कांग्रेस (Congress) में भी अब आंतरिक कलह जगह ले रही है। खबर है कि पार्टी के कम से कम 4 असंतुष्ट विधायकों (MLA) ने पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी (Rahul Gandhi) से मिलने के लिए समय मांगा है। पार्टी नेता सरकार में शामिल कांग्रेस के चार मंत्रियों पर काम नहीं करने के आरोप लगा रहे हैं। हाल ही में कांग्रेस ने दिल्ली में बैठक आयोजित की थी, जिसमें झारखंड के प्रदेश अध्यक्ष समेत कई बड़े नेताओं को तलब किया गया था।

द न्यू इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार, जमताड़ा विधायक इरफान अंसारी के नेतृत्व में कम से कम चार विधायक राहुल गांधी से मिलने की तैयारी कर रहे हैं। अंसारी के अनुसार, वे पार्टी के पांच और विधायकों के संपर्क में हैं, जो दिल्ली में उनके साथ बैठक में शामिल होंगे। असंतुष्ट विधायकों उमाशंकर अकेला, नमन विक्सल कोंगारी, राजेश कछप और इरफान अंसारी की बैठक के दौरान यह फैसला लिया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार, अंसारी ने आरोप लगाया है कि राज्य के मंत्रियों की तरफ से उनके दरकिनार किया जा रहा है और वे उनसे मिलने के लिए भी तैयार नहीं हैं। उन्होंने यह भी कहा कि गठबंधन की सरकार में कांग्रेस के चार मंत्री काम करने में असफल रहे हैं और इसलिए युवा नेताओं को मौका दिया जाना चाहिए। इस दौरान उन्होंने पार्टी के प्रदेश नेतृत्व पर भी जमकर निशाना साधा।

अंसारी ने आरोप लगाए कि जिन नेताओं को लोगों ने खारिज कर दिया, उन्हें पार्टी की तरफ से मंत्री पद के लिए चुना गया। उन्होंने कहा, ‘कांग्रेस कोटा के सभी चारों मंत्री काम करने में असफल रहे हैं, क्योंकि लोग उनसे खुश नहीं है और इसलिए पार्टी के युवा नेताओं को मौका दिया जाना चाहिए।’

एक अन्य विधायक कछप ने कहा कि कांग्रेस के मंत्री उनसे मिलने के लिए तैयार नहीं हैं और उन्हें छोटे से मुद्दों के लिए भी लंबा इंतजार करना पड़ता है। पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष राजेश ठाकुर ने कहा कि अगर वे मुलाकात कर रहे हैं, तो यह कोई नई बात नहीं है। उन्होंने कहा, ‘अगर पार्टी के चार विधायक एक साथ मिल रहे हैं, तो यह कोई गंभीर मुद्दा नहीं है। यह मेरी जानकारी में है और किसी को चिंता करने की जरूरत नहीं है।’