बुरे काम का बुरा नतीजा , पढ़िए मंदिर में गया चोरी करने कैसे फस गया चोर

(हैदरावाद) : कहते हैं कि बुरे कर्मों का फल बुरा ही होता है। आंध्र प्रदेश में यह बात सच साबित हो गई। यहां एक चोर ने मंदिर से गहने चुराने के लिए दीवार में छेद किया, लेकिन वह खुद ही उसमें फंस गया। उसे रंगे हाथों तब पकड़ा गया, जब उसने मदद के लिए लोगों को बुलाया।
पापा राव नाम का चोर आंध्र के तटीय जिले श्रीकाकुलम के जामी येलम्मा मंदिर की खिड़की तोड़कर अंदर घुसा और भगवान की मूर्तियों पर चढ़ाए गए आभूषणों को चुरा लिया। उसने बाहर निकलने के लिए दीवार में छेद किया, लेकिन वह आधे में ही छेद में फंस गया।
जब कई घंटों के बाद भी वह नहीं निकल पाया तो उसने रो-रोकर लोगों को मदद के लिए बुलाना शुरू किया। इसके बाद वहां गांव वाले जमा हो गए। लोगों ने उसे छेद से बाहर निकालकर पुलिस के हवाले कर दिया।
बुरे काम का बुरा नतीजा तुरंत, पढ़िए ऐसे ही दो वाकये


डोनेशन बॉक्स में फंस गया चोर का हाथ
ऐसा ही एक वाकया छत्तीसगढ़ के कोरबा में पिछले साल अप्रैल में हुआ था, जब दो चोर श्री सिद्ध वटेश्वर हनुमान शनि मंदिर में चोरी करने गए। वे ताला तोड़कर अंदर घुसे और डोनेशन बॉक्स से पैसा चुराने की कोशिश करने लगे, तभी एक चोर का हाथ बॉक्स के अंदर फंस गया। मंदिर के पुजारी ने अगली सुबह उसे देखा और पुलिस को सूचना दी। इसके बाद दोनों को गिरफ्तार कर लिया गया।
चोरी की रकम देखकर चोर को आया हार्ट अटैक
पिछले साल अप्रैल में ही उत्तर प्रदेश के बिजनौर में एक चोर को चोरी की रकम देखकर हार्ट अटैक आ गया। उसने अपने दोस्त के साथ मिलकर एक सर्विस सेंटर में चोरी की थी, जहां से दोनों ने 7 लाख रुपए चुराए। दोनों को लगा था कि उनके हाथ सिर्फ कुछ हजार रुपए लगेंगे, लेकिन जब उन्होंने अपनी आंखों के सामने लाखों रुपए देखे तो एक चोर को हार्ट अटैक आ गया। चोरी की बड़ी रकम उसके इलाज में लग गई। बाद में दोनों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया।