पाकिस्तान की सियासत पिच में इमरान नॉट आउट, चुनाव होने तक रहेंगे कार्यवाहक प्रधानमंत्री

(इस्लामवाद) : पाकिस्तान की नेशनल असेंबली में रविवार को बड़ा सियासी ड्रामा हुआ। प्रधानमंत्री इमरान खान को कुर्सी से हटाने की विपक्ष की कोशिश फिलहाल नाकाम हो गई। असेंबली के डिप्टी स्पीकर ने अनुच्छेद 5 के तहत विपक्ष का अविश्वास प्रस्ताव खारिज कर दिया। इसके लिए डिप्टी स्पीकर ने विदेशी साजिश का हवाला दिया।

इसके तुरंत बाद इमरान की सिफारिश पर राष्ट्रपति आरिफ अल्वी ने नेशनल असेंबली को भंग कर दिया। अब पाकिस्तान में अगले 90 दिन के अंदर आम चुनाव कराए जाएंगे। इमरान तब तक कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने रहेंगे।

संसद स्पीकर के खिलाफ भी लाया गया अविश्वास प्रस्ताव
इससे पहले विपक्षी पार्टियों ने संसद के स्पीकर असद कैसर के खिलाफ अविश्वास प्रस्ताव का नोटिस दिया था। विपक्षी पार्टियों का कहना था कि कैसर निष्पक्ष होकर कार्यवाही नहीं कर रहे। वहीं, राजधानी इस्लामाबाद में कर्फ्यू भी लगा दिया गया था।

असंबेली की कार्यवाही से पहले इस्लामाबाद में कर्फ्यू लगाया
अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग से पहले इस्लामाबाद में कर्फ्यू लगा दिया गया। तमाम सुरक्षा एजेंसियों को अलर्ट पर रखकर 3 हजार पुलिसकर्मियों को संसद के आसपास तैनात किया गया था। संसद की तरफ जाने वाले सभी रास्तों को भी कंटेनर रखकर बंद कर दिया गया था। इसके अलावा रेंजर्स को भी स्टैंडबाय रखा गया था।

ऐसा इसलिए किया गया, क्योंकि एक तरफ इमरान खान के समर्थकों के राजधानी पहुंचने का अंदेशा था, तो दूसरी तरफ विपक्ष के समर्थकों की तरफ प्रदर्शन की आशंका थी। खुफिया एजेंसियों ने भी अविश्वास प्रस्ताव पर वोटिंग के पहले या बाद में हिंसा की आशंका जताई थी।

सियासत के अहम मुद्दे  

पाकिस्तानी सेना ने कहा है कि आज जो हुआ, वो एक राजनीतिक प्रक्रिया है। इससे हमारा कोई लेना देना नहीं है।

पाकिस्तान की सुप्रीम कोर्ट ने नेशनल असेंबली भंग करने के मामले में खुद नोटिस लेकर एक स्पेशल बेंच बनाई है।

स्पीकर के फैसले के खिलाफ विपक्ष के सांसदों ने नेशनल असेंबली पर कब्जा करके शहबाज शरीफ को PM चुन लिया।

अविश्वास प्रस्ताव खारिज होने के बाद इमरान ने देश को संबोधित करते हुए कहा- ‘हम इंसाफ के लिए अवाम के बीच जाएंगे।

नवाज शरीफ की बेटी मरियमने इमरान को पागल और जुनूनी कहा है। उन्होंने कहा कि अगर इसे सजा नहीं मिली तो जंगल राज आएगा।

पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी (PPP) के अध्यक्ष अध्यक्ष बिलावल भुट्टो ने इमरान खान पर संविधान को तोड़ने का आरोप लगाया है।