अलग रूप रंग में दिखेंगे भोजपुरी खेसारी लाल यादव

मुंबई! भोजपुरी फिल्म ‘बोल राधा बोल’ के निर्देशक पराग पाटील ने हमेशा ही कुछ अलग और अनोखा किया है। खेसारी की हर फिल्म में पराग पाटील ने उन्हें एक अलग रूप रंग में दिखाया है। पराग हमेशा से ही फिल्मों में एक्सपेरीमेंट करने के लिए जाने जाते हैं। उन्होंने खेसारी के साथ आई अब तक हर सिनेमा में उनको एक यूनिक तरीके से प्रजेंट किया है। चाहे वो संघर्ष हो या बोल राधा बोल हो।

जैसे संघर्ष में पराग ने खेसारी को बुजुर्ग के रूप में दिखाया। लिट्टी चोखा में खेसारी सीधे साधे गांव के परिवेश में रहने वाले व्यक्ति के किरदार में नजर आए। वही हालिया रिलीज आशिकी में खेसारी लाल यादव एक बार फिर से एक अलग गेटप में दिखाई दिए। इसमें वे एक ब्राह्मण समाज से ताल्लुक रखते हैं और अचानक से किसी के प्यार में पड़कर साधु संन्यासी वाले रूप में, हाथ में चिलम लिए दिखाई देते हैं। अब पराग पाटील और खेसारी लाल यादव की आगामी फिल्म बोल राधा बोल आ रही है जिसमे पराग ने खेसारी को अपनी उम्र से 10 साल छोटा दिखाया है। इनके इस लुक की चर्चा खूब हो रही है।

इस मुद्दे पर निर्देशक पराग पाटील ने कहा कि मैं कहानी के मुताबिक खेसारी का लुक सोचता हूं। अगर कहानी किसी पिता की है तो संघर्ष जैसा रूप खेसारी पर अच्छा लगता है। वही अगर हम बोल राधा बोल की बात करें तो इसमें खेसारी को हम अल्हड़ व्यक्ति के रूप देना चाहते थे जोकि उन पर सूट भी कर रहा है। फिल्म बोल राधा बोल मेरी अब तक कि सबसे बेहतरीन फिल्मों में से एक होगी। यह मूवी भोजपुरिया दर्शकों को सोचने पर मजबूर कर देगी की भोजपुरी इंडस्ट्री में ऐसा सिनेमा भी बन सकता है क्या।