हाईकोर्ट के फैसले के बाद हिजाब मामले को लेकर मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड पहुंचा सुप्रीम कोर्ट

(नई दिल्ली) : हिजाब मामले में मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है। उलेमाओं की संस्था समस्त केरल जमीयतुल उलेमा ने भी याचिका दाखिल की है। इन याचिकाओं में कहा गया है कि कर्नाटक हाईकोर्ट का फैसला इस्लामिक कानून की गलत व्याख्या है। मुस्लिम लड़कियों के लिए परिवार के बाहर सिर और गले को ढक कर रखना अनिवार्य है।

दो छात्राओं ने भी हाई कोर्ट के आदेश के बाद दी थी सुप्रीम कोर्ट में चुनौती 

इसके पहले कर्नाटक की 2 छात्राओं ने कर्नाटक हाईकोर्ट के आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी है। इस मामले में हिंदू सेना के नेता सुरजीत यादव ने भी कैविएट दाखिल कर सुप्रीम कोर्ट से हाईकोर्ट के फैसले पर रोक का एकतरफा आदेश न देने की मांग की है।

बता दें कि 15 मार्च कर्नाटक हाईकोर्ट ने हिजाब को इस्लाम का अनिवार्य हिस्सा नहीं कहते हुए शिक्षण संस्थानों में हिजाब पर प्रतिबंध के सरकार के निर्णय को बरकरार रखा। हाईकोर्ट के इसी आदेश को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी गई है।