चैत्र मास में इन चीजों का भूलकर भी न करें सेवन, वरना हो सकती है दिक्‍कत

नई दिल्ली. चैत्र मास(Chaitra month) की शुरुआत हो चुकी है. हिंदू धर्म में चैत्र के महीने का काफी महत्व होता है. चैत्र मास से ही भारतीय नव वर्ष (indian new year) की शुरुआत होती है. 18 मार्च 2022 या होली (Holi) के दिन से चैत्र मास की शुरुआत होती है. हिंदू वर्ष का पहला मास होने के कारण चैत्र का बहुत अधिक महत्व होता है. अनेक पावन पर्व इस मास में मनाए जाते हैं. चैत्र मास की पूर्णिमा चित्रा नक्षत्र (Poornima Chitra Nakshatra) में होती है इसी कारण इस महीने का नाम चैत्र पड़ा. मान्यता है कि सृष्टि के रचयिता भगवान ब्रह्मा ने चैत्र मास की शुक्ल प्रतिपदा से ही सृष्टि की रचना आरंभ की थी. वहीं सतयुग की शुरुआत भी चैत्र माह से मानी जाती है.

क्यों खास माना जाता है चैत्र का महीना
माना जाता है इस मास से सर्दियां समाप्त हो जाती है और गर्मियों की शुरुआत होती है. पर्यावरण में आसपास काफी हरियाली रहती है. इस समय तरह-तरह के फूल खिलते हैं. चैत्र मास में मां दुर्गा की पूजा की जाती है इस मास में चैत्र नवरात्रि का त्योहार भी मनाया जाता है.

चैत्र मास में भूलकर भी ना करें इन चीजों का सेवन
गुड और मिश्री का सेवन- व्रत के दौरान नमक वाली चीजों का सेवन नहीं किया जाता. ऐसे में लोग अधिक मात्रा में मीठी चीजों का सेवन करते हैं, जिससे आपकी समस्याएं बढ़ सकती हैं. ऐसे में जरूरी है कि आप इस दौरान मीठी चीजों के सेवन से बचें.

इन फलों का सेवन– चैत्र का महीने में सर्दियां (winters) जाती हैं और गर्मियां आने लगती हैं. ऐसे में इस दौरान खट्टे फलों का सेवन करने से आपकी तबीयत पर इसका बुरा असर पड़ सकता है. तो इस दौरान साधारण भोजन का सेवन करें.

इन चीजों का भी ना करें सेवन- इस दौरान व्यक्ति को अधिक मिर्च मसालों और बासी भोजन का बिल्कुल भी सेवन नहीं करना चाहिए. इससे आपकी सेहत और भी बिगड़ सकती है.

इन चीजों का करें सेवन-
– इस दौरान नीम की पत्तियों का सेवन करना काफी फायदेमंद माना जाता है. इससे कई तरह की बाीमारियां दूर होती हैं.

– चैत्र के महीने में चना खाना काफी अच्छा माना जाता है. इससे आपकी सेहत पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है.

– इस दौरान खाना कम करके पानी ज्यादा पीना चाहिए इसके अलावा मीठे और पके हुए फलों का ही सेवन करें.

चैत्र के महीने में जरूर करें ये काम
– चैत्र के महीने में सूर्य देव की पूजा करना काफी शुभ माना जाता है. सूर्यदेव की पूजा करने से सभी कष्ट दूर हो जाते हैं. ऐसे में इस दौरान नियमित रूप से सूर्यदेव को अर्घ्य दें.

– इस माह में भगवान विष्‍णु की पूजा और आराधना की जाती है. इस माह में आपको भगवान विष्‍णु के मछली के स्वरूप की पूजा करनी चाहिए. ऐसा करने से आपके ऊपर माता लक्ष्मी की कृपा बनी रहती है और आपकी आर्थिक स्थिति मजबूत होती है.

– चैत्र मास में मां दुर्गा के 9 स्वरूपों की पूजा-अर्चना करना काफी शुभ माना जाता है. इस मास में आने वाली नवरात्रि काफी फलदायी साबित होती है. बता दें कि इस साल चैत्र नवरात्रि 2 अप्रैल 2022 से शुरू हो रहे हैं.