बेलारूस ने साफ किया है कि वह रूस-यूक्रेन युद्ध का हिस्सा नहीं बनेगा

(मिन्स्क ) रूस के मित्र देश बेलारूस ने साफ किया है कि वह रूस-यूक्रेन युद्ध का हिस्सा नहीं बनेगा। यूक्रेन की चेतावनी के बाद बेलारूस ने साफ किया कि उसकी यूक्रन पर रूसी आक्रमण में शामिल होने की कोई योजना नहीं है। इस बीच यूक्रेन को मदद के मसले पर अमेरिकी सीनेट दोफाड़ हो गयी। सीनेट में यूक्रेन को अमेरिकी मदद के प्रस्ताव पर 31 सदस्यों के विरोध का सामना करना पड़ा, जबकि 68 सदस्यों के समर्थन से मदद के प्रस्ताव को मंजूरी दी जा सकी।

यूक्रेन प्रशासन को आशंका थी कि यूक्रेन पर रूस के हमले में बेलारूस भी अपनी सेना भेजकर आक्रमण का हिस्सा बन सकता है। बताया गया था कि बेलारूस कुछ ही घंटों में रूसी सेना के साथ अभियान में शामिल होने की योजना बना रहा है। इस पर यूक्रेन के एक शीर्ष सुरक्षा अधिकारी ने शुक्रवार को बेलारूस को चेतावनी भी दी थी। इस चेतावनी के बाद बेलारूस के सशस्त्र बलों के जनरल स्टाफ के प्रमुख विक्टर गुलेविच ने स्पष्ट किया कि बेलारूस की यूक्रेन पर रूसी आक्रमण में शामिल होने की कोई योजना नहीं है। लेकिन वह पहले से ही तैनात सुरक्षाबलों को बदलने के लिए बारी-बारी से अपनी सीमा पर पांच बटालियन सामरिक समूहों (बीटीजी) को भेज रहा है।

इस बीच अमेरिकी कांग्रेस ने युद्धग्रस्त यूक्रेन और उसके यूरोपीय सहयोगियों को 13.6 अरब डॉलर की सैन्य और मानवीय आपात मदद प्रदान करने को मंजूरी दे दी है। यूक्रेन पर रूस के आक्रमण में अब तक हजारों लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 20 लाख से अधिक लोगों को देश छोड़कर भागना पड़ा है। सीनेट में प्रस्तुत प्रस्ताव के पक्ष में 68 जबकि विरोध में 31 वोट पड़े।