पोषक तत्‍वों से भरपूर है ये सुपरफूड्स, डाइट में शामिल करने से मिलेंगे कमाल के फायदें

नई दिल्ली. शरीर को स्वस्थ (Healthy) रखने के लिए कई तरह के पोषक तत्वों की जरूरत होती है जिनमें से एक फाइबर भी है. फाइबर से पाचन तंत्र (Digestive System) मजबूत बनता है. साथ ही शुगर लेवल भी कंट्रोल में रहता है. हार्ट के लिए भी फाइबर (Fiber Rich Foods) काफी अच्छा होता है. इसके अलावा ग्लोइंग स्किन(glowing skin), वजन कम करने के लिए फाइबर(fiber) काफी ज्यादा जरूरी माना जाता है. डाइट में फाइबर (Fiber) से भरपूर चीजें शामिल करने से अपच और पेट से जुड़ी कई समस्याओं को दूर किया जा सकता है. ऐसे में अगर आप एक लंबी और हेल्दी जिंदगी जीना चाहते हैं तो फाइबर आपके लिए काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकता है.

एक शोध के अनुसार, फाइबर से भरपूर खाद्य पदार्थ, जिसमें भरपूर मात्रा में कार्बोहाइड्रेट (Carbohydrate) शामिल हैं, ब्लू ज़ोन्स के आहार में प्रमुखता से शामिल हैं. ब्लू जोन्स में दुनिया की 5 ऐसी जगहों के बारे में बताया गया है जहां लोग सबसे लंबे समय तक, हेल्दी जीवन जीते हैं. ये 5 जोन कुछ तरह प्रकार हैं-

– ग्रीस
– इटली
– जापान
– कोस्टा रीका
– कैलिफोर्निया का Loma Linda

बीन्स, नट्स, साबुत अनाज, जड़ी-बूटियों और हरी सब्जियों (green vegetables) जैसे सामान्य हाई फाइबर वाली चीजें ब्लू जोन्स की डाइट का एक अहम हिस्सा हैं. यहां मांसाहार की बजाय शाकाहार चीजों का सेवन किया जाता है.

शोध से पता चलता है कि डाइट में फाइबर शामिल करने से पाचन शक्ति को मजबूत, शुगर लेवल को कंट्रोल और कैंसर जैसी पुरानी बीमारियों को रोका जा सकता है. फाइबर से भरपूर चीजें खाने से पेट भरा रहता है जिससे आपका वजन भी कम होता है. अमेरिका के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन (FDA) के मुताबिक, एक व्यक्ति को रोजाना 28 ग्राम फाइबर खाना चाहिए. आइए जानते हैं किन -किन चीजों में होता है फाइबर-

बीन्स-
बीन्स में कई तरह के पोषक तत्व पाए जाते हैं. प्रोटीन और फाइबर से भरपूर होने के कारण इन्हें खाने से वजन कंट्रोल रहता है. दालें और बीन्स जैसे चना, राजमा, मटर, मसूर आदि में प्रोटीन, फोलेट और आयरन जैसे पोषक तत्व पाए जाते हैं. राजमा के आधे कप में 8 ग्राम फाइबर पाया जाता है.

साबुत अनाज –
साबुत अनाजों में फाइबर की मात्रा काफी ज्यादा पाई जाती है. साबुत अनाज में गेहूं, जौ, मक्का, ब्राउन राइस, ब्लैक राइस, बाजरा, क्विनोआ आदि शामिल होते हैं. इनमें फाइबर के अलावा प्रोटीन, विटामिन बी , एंटीऑक्सिडेंट्स, और मिनरल्स जैसे आयरन, जिंक, कॉपर और मैग्नीशियम आदि पोषक तत्व भी पाए जाते हैं.

नट्स-
नट्स में बादाम, काजू, पिस्ता, अखरोट और मूंगफली को शामिल किया जाता है. इनमें फाइबर की मात्रा काफी अधिक पाई जाती है. ये पाचन के लिए भी काफी अच्छे साबित होते हैं.

ब्रॉकली-
ब्रॉकली में फाइबर के साथ ही कैल्शियम और विटामिन-सी की मात्रा पाई जाती है. बता दें कि 100 ग्राम ब्रॉक्ली में 2.6 ग्राम फाइबर पाया जाता है.

फ्रूट्स-
कुछ फ्रूट्स जैसे नाशपती, स्ट्रॉबेरी, रास्पबेरी आदि में फाइबर की अधिक मात्रा पाई जाती है. इनमें फाइबर के अलावा विटामिन सी, विटामिन ए, थायमिन, राइबोफ्लेविन, विटामिन बी 6, कैल्शियम और जिंक की मात्रा भी पाई जाती है.

फ्लैक्स सीड्स-
फ्लैक्स सीड्स को अलसी भी कहा जाता है. इसमें फाइबर के साथ ही मिनरल्स, विटामिन, मैग्नीशियम, कॉपर, ओमेगा-3 फैटी एसिड, फास्फोरस की मात्रा भी पाई जाती है. 100 ग्राम अलसी के बीजों में 27 ग्राम फाइबर होता है.