Infinix Zero Series मार्केट में जल्‍द देगी दस्‍तक, जानें फीचर्स में क्‍या मिलेगा खास

नई दिल्ली। ट्रांसिशन ग्रुप के प्रीमियम स्मार्टफोन ब्रांड, इनफिनिक्स ने सबसे लोकप्रिय 5जी स्मार्टफोन को लेटेस्ट MemFusion फीचर के साथ उपलब्ध कराने की बात कही है। यह फीचर यूजर्स को अपने स्मार्टफोन की रैम को स्टोरेज के जरिए बढ़ाने की अनुमति देगा। इस रैम को स्टोरेज के कुछ हिस्से का इस्तेमाल करके बढ़ाया जा सकता है।

यहां जानें रैम क्यों और कितनी है जरूरी:
किसी भी स्मार्टफोन के लिए रैम बहुत जरूरी होती है। इसे रैंडम एक्सेस मेमोरी कहा जाता है। यह रोजमर्रा के फोन कार्यों के लिए काफी मदद करता है। बता दें कि एक मोबाइल फोन में दो मेमोरी होती हैं। एक रैम और दूसरा रोम यानी स्टोरेज, जो क्रमशः कंप्यूटर की मेमोरी और हार्ड डिस्क से मेल खाती है। मेमोरी प्रोग्राम चलाने और डाटा ट्रांसफर करने में मदद करते हैं। जबकि हार्ड डिस्क का मतलब स्टोरेज स्पेस है जहां आप फोटो, वीडियो और अन्य फाइलों को स्टोर कर सकते हैं। फोन में सभी प्रोग्राम रैम पर चलते हैं; इसलिए, पढ़ने और लिखने की स्पीड और रैम की क्षमता फोन की परफॉर्मेंस के लिए महत्वपूर्ण है।

कई बार स्मार्टफोन यूजर्स को इस तरह के सीनेरियो का सामना करना पड़ता है जिसमें जब आप गेम खेल रहे होते हैं तो आपको दूसरी ऐप्स का इस्तेमाल करना पड़ जाता है। ऐसे में जब आप गेम ऐप पर वापस जाते हैं तो उन्हे दोबारा लोड करना पड़ता है। यह अपर्याप्त मेमोरी के कारण होता है। ज्यादा मेमोरी के साथ यूजर्स फोन में ज्यादा ऐप्स चला सकते हैं और वो भी बिना अंतराल के। इसमें ऐप्स के बीच तेजी से स्विच किया जा सकता है। यह उन यूजर्स के लिए बेहद जरूरी है जो ज्यादा गेमिंग करते हैं। इन यूजर्स के लिए रैम भी उतनी ही जरूरी होती है। हालांकि, ज्यादा RAM फोन की कीमत में वृद्धि होने का मुख्य कारण होती है। इससे ग्राहकों के लिए कंफ्यूजन हो जाती है कि क्या वो यह फोन खरीदना चाहते हैं या नहीं, क्योंकि उनका बजट उन्हें इजाजत नहीं देता है।

अपकमिंग जीरो सीरीज के डिवाइस “MemFusion” फीचर से लैस होंगे। इसे इस्तेमाल करने के लिए यूजर्स को सेटिंग पर जाना होगा और फिर स्पेशल फंक्शन पर जाना होगा। फिर MemFusion द्वारा पर जाना होगा। फिर आप इसे एक्सेस कर पाएंगे। यह फीचर यूजर्स को रैम में बदलने के लिए स्टोरेज स्पेस को रोम से बाहर सेट करने में इनेबल करेगी।

यूजर्स इन विकल्पों में से किसी को भी चुन सकते हैं जिसमें 2जीबी/3जीबी/5जीबी रैम शामिल होगी। एक बार RAM साइज चुनने के बाद डिवाइस दोबारा स्टार्ट होगी और चुनी गई वर्चुअल RAM को दिखाएगी। जब आप एक स्पेसिफइक समय पर अधिक ऐप्स का उपयोग कर रहे होते हैं और अपने डेली बैटरी लाइफ से कॉम्प्रॉइज कनरे लगते हैं तो फोन की परफॉर्मेंस खराब हो जाती है। ऐसे में यह फीचर गेम-चेंजर है। एक्सटेंडेड RAM तकनीक का मतलब है कि ROM का एक भाग RAM के रूप में काम करने के लिए उपयोग किया जाएगा।

लेटेस्ट MemFusion तकनीक के साथ, Infinix Zero Series पर एक साथ चलने वाली ऐप्स की संख्या एक साथ 9 से बढ़कर 20 हो जाएगी। एक साथ 20 ऐप्स के चलने से, एप्लिकेशन की औसत स्टार्टअप स्पीड लगभग 60 फीसद तक बढ़ाई जा सकती है। यह डिवाइस गेम को तेजी से लोड कर सकते हैं और यह सुनिश्चित कर सकते हैं कि यूर्जर्स कई ऐप्स के बीच स्विच करने के बाद भी अपने गेम को एंजॉय कर सकते हैं।

पिछले एक दशक में एंड्रॉइड फोन में फिजिकल मेमोरी 1GB से बढ़कर 8GB हो गई है। फ्लैगशिप फोन की बात करें तो यह 10GB या उससे अधिक हो गई है। इसके अलावा, इनफिनिक्स बढ़ी हुई फिजिकल मेमोरी के आधार पर अपनी एक्सटेंडेड रैम तकनीक और MemFusion फीचर को अपनाता है। इससे यूजर्स को बेहतर मल्टी-ऐप एक्सपीरियंस मिलता है।

Infinix यह सुनिश्चित करने के लिए कड़ी मेहनत कर रहा है कि भविष्य के कई डिवाइसेज में नई तकनीक दी जाए जो यूजर्स को दैनिक मामलों की परेशानी से मुक्ति दिलाए।