कराची में मौत हुई सलीम गाजी की, 1993 Mumbai Blast का था आरोपी

नई दिल्ली। मुंबई में 1993 को हुए सीरियल ब्लास्ट ( 1993 Mumbai Serial Blast) के आरोपी सलीम गाजी (Salim Ghazi) की शनिवार को कराची (Karachi) में मौत हो गई है. समाचार एजेंसी एएनआई ने मुंबई पुलिस (Mumbai Police) के सूत्रों के हवाले से इसकी जानकारी दी. सलीम गाजी दाऊद इब्राहिम (Dawood Ibrahim) ग्रुप के सदस्य डॉन छोटा शकील (Chota Shakeel) का करीबी था और वह पिछले कई दिनों से बीमार चल रहा था. सलीम गाजी मुंबई ब्लास्ट (Mumbai Blast) का एक बड़ा आरोपी था लेकिन ब्लास्ट के बाद दाऊद इब्राहिम और दूसरे साथियों के साथ वह भागने में कामयाब रहा था.

सलीम गाजी पुलिस की गिरफ्त से बचने के लिए लगातार अपने ठिकाने बदलता रहा. कई सालों तक वह दुबई में रहा और इसके बाद वह पाकिस्तान में छोटा शकील के अवैध कारोबार में भी सक्रीय रहा. सूत्रों के अनुसार पिछले कई दिनों से वह ब्लड प्रेशर और दूसरी कई बीमारियों से पीड़ित चल रहा था.

बताया जा रहा है कि उसका इलाज चल रहा था लेकिन शनिवार को उसको दिल का दौरा पड़न की वजह से उसकी मौत हो गई. आपको बता दें कि मुंबई ब्लास्ट में सलीम गाजी के साथ साथ दाऊद इब्राहिम,, छोटा शकील, टाइगर मेनन और उसके परिवार के लोग शामिल थे.

गौरतलब है कि12 मार्च 1993 को सरपट रफ्तार से दौड़ने वाली मुंबई नगरी में एक के बाद एक कई सिलसिलेवार धमाके हुए जिससे सैकड़ों लोगों की मौत हो गई और पूरी मुंबई में सन्नाटा छा गया. इस हमले में 250 से ज्यादा लोगों की मौत हुई थी जबकि 700 से अधिक लोग बेघर हो गए थे और करीब इतने ही लोग गंभीर रूप से घायल हो गए थे.

मुंबई ब्लास्ट में कई करोड़ की संपत्ति का नुकसान हुआ था. मुंबई में हुए इन धमाकों को दाऊद इब्राहिम के इशारों पर अंजाम दिया गया था. धमाके से पहले लोगों को चुना गया और फिर उन्हें ट्रेनिंग के लिए पाकिस्तान भेज दिया गया था. मुंबई ब्लास्ट में शामिल अबू सलेम और फारुख टकला जैसे लोग इस समय मुंबई पुलिस की गिरफ्त में आ चुके हैं, लेकिन इन धमाकों का सबसे बड़ा मास्टर माइंड दाऊद इब्राहिम आज भी पुलिस की पहुंच से दूर है.