महिलाओं के साथ पुरूषों को भी शिकार बना रही ये बीमारी, ये लक्षण दिखनें पर कराएं टेस्‍ट

नई दिल्‍ली। ब्रेस्ट कैंसर (Breast Cancer) एक ऐसी बीमारी है, जिसका सामना दुनिया में हर हजारों लोगों को करना पड़ता है। इस बीमारी के लक्षण शरीर के बाहर जल्दी से दिख नहीं पाते। जिसके चलते समय से इलाज शुरू न करवाने पर लोग असमय मौत का शिकार हो जाते हैं।

पुरुषों में भी होता है ब्रेस्ट कैंसर
कई लोगों का सोचना है कि यह बीमारी केवल महिलाओं को ही होती है लेकिन ऐसा नहीं है। यह बीमारी महिलाओं के साथ ही पुरुषों को भी अपना शिकार बनाती है। हालांकि उनकी तादाद काफी कम होती है। अधिकतर मामलों में यह महिलाओं में ही देखी जाती है।

भारत में मिला अनोखा मामला
द सन की रिपोर्ट के मुताबिक भारत में 65 साल के एक पुरुष में ब्रेस्ट कैंसर (Breast Cancer in Male) का ऐसा ही एक मामला सामने आया है। आमतौर पर ब्रेस्ट कैंसर शरीर के अंदर ही अंदर पनपता है। जिसका बाहर पता नहीं चल पाता लेकिन भारतीय पुरुष में शरीर के बाहर पहली बार ऐसे लक्षण दिखाई दिए। जिसे सब लोगों के लिए खतरे की घंटी मना जा रहा है। अगर आपको भी अपने शरीर पर ये लक्षण दिखाई दे तो तुरंत टेस्ट कराने में देर न करें।

पुरुष मरीज को हुआ ब्रेस्ट कैंसर
रिपोर्ट के मुताबिक झज्जर में डिटेक्ट हुए पीड़ित पुरुष की छाती(Breast Cancer in Male) का बायां हिस्सा और बायीं बांह पर स्किन धीरे-धीरे सख्त होती चली गई। पीड़ित के मुताबिक उसके साथ यह सब 7 महीने पहले शुरू हुआ, जो धीरे-धीरे बढ़ता चला गया। हालांकि स्किन सख्त होने के बावजूद उसे दर्द नहीं हुआ। यही नहीं, उसकी स्किन पर जलने जैसे निशान भी बनने लगे।

छाती के टिश्यूज सूखकर हुए सख्त
डॉक्टरों ने जब मरीज की जांच की तो पता चला कि स्किन में Erythematous मॉड्यूल्स थे यानी कि टिश्यूज सूखकर सख्त हो चुके थे। जो कैंसर का संकेत थे। यह सख्त टिश्यूज धीरे ब्लड सेल्स को कवर करके उसमें खून और ऑक्सीजन की आपूर्ति बंद कर सकते थे। जिससे मरीज की जान जा सकती थी।

ब्रेस्ट कैंसर का सामने आया लक्षण
इसके बाद डॉक्टरों ने मरीज की बायोप्सी की, जिनसे मरीज के शरीर में Metastatic Carcinoma होने का पता चला। यानी कि मरीज को ब्रेस्ट कैंसर (Breast Cancer in Male) की शुरुआत हो चुकी थी। डॉक्टरों के लिए यह अद्भुत बात थी। अब तक डॉक्टरों ने ब्रेस्ट कैंसर के जितने भी लक्षण देखे थे, वे सब शरीर के अंदर होते थे। जबकि पहली बार वे ब्रेस्ट कैंसर का शरीर के बाहर लक्षण देख रहे थे। इसके बाद से डॉक्टरों ने मरीज का इलाज शुरू किया, जो अब भी जारी है।