भोपाल चेंबर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज़ चुनाव : कुल 24 पदों के लिए मतदान प्रक्रिया पूरी ,रविवार को आएंगे नतीजे

राजधानी भोपाल के मानस भवन में सबसे प्रतिष्ठित भोपाल चेंबर ऑफ कॉमर्स ऑफ इंडस्ट्रीज़ के चुनाव शनिवार को शांतिपूर्ण रूप से सम्पन्न हुए ।

बता दे की मानस भवन में सुबह 9 बजे से शाम 5 बजे तक कुल आठ घंटे तक मतदान की प्रक्रिया चली । व्यवसायी मतदाताओं की सुविधा के लिए तथा मतदान प्रक्रिया अच्छे से चलाने के लिए मतदान करने के कुल 30 पोलिंग बूथ बनाए गए थे। इस दौरान व्यवसायी मतदाताओं में काफी उत्साह का माहौल था वही कुल 1522 मतदाताओं ने अपने मत का प्रयोग किया । 9 पदाधिकारी जिनमे अध्यक्ष, तीन उपाध्यक्ष, एक महामंत्री, दो मंत्री, एक कोषाध्यक्ष, एक सह – कोषाध्यक्ष और 15 कार्यकारिणी के सदस्य पद हेतु कुल 24 पदों के लिए चुनाव हुए । इस चुनाव में प्रगतिशील पैनल और सद्भावना पैनल के  कुल 48 उम्मीदवारों ने अपने भाग्य आजमाएं है ।

 

चेंबर ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज़ के चुनाव में प्रगतिशील पैनल की तरफ से अध्यक्ष उम्मीदवार, तेजकुल पल सिंह ‘पाली’ ने अपनी पैनल के जीत का दावा किया । उन्होंने कहा की हमारे पैनल के उम्मीदवारों के पक्ष मे मतदान हुए है हम जीत को लेकर आश्वस्त है । जीत के बाद व्यवसायियों के हित में काम करेंगे । वही सद्भावना पैनल की ओर से अध्यक्ष पद के उम्मीदवार, आलोक पंचरत्न जी ने भी मतदान प्रक्रिया पूरी होने के बाद अपनी पैनल के उम्मीदवारों के जीत का दावा किया । उन्होंने कहा कि हम जीत के बाद व्यवसायीओं से जुड़ी हर समस्या का हल करने पर ज़ोर देंगे ।

इस चुनाव प्रक्रिया को संचालित करा रहे चुनाव अधिकारी श्री आकाश तैलंग और रोहित श्रोती जी ने बताया की इस चुनाव को पूरा कराने के लिए वकीलों के साथ – साथ 70 पुलिसकर्मी लगाए गए है मतदान शांतिपूर्वक हुआ । दो पेटियों में मतपत्रो की  सुरक्षा के मद्देनजर श्यामला हिल्स थाने मे रखवाएं गए है । रविवार को मतपत्रों की गिनती के बाद चुनाव के परिणाम घोषित कर दिए जाएंगे ।

भोपाल चेंबर्स ऑफ कॉमर्स एण्ड इंडस्ट्रीज़ :एक नजर

इसकी स्थापना 1962 में हुई थी जिसमे 9 पदाधिकारी समेत 15 कार्यकारिणी के सदस्य होते है जिनका कार्यकाल 3 वर्षों का होता है । बता दे की इसका आखिरी चुनाव 2015 में हुए थे । तमाम बाधाओं, कोविड आदि के कारण चुनाव नहीं हो पा रहा था वही 2021 में ही कुल 4 बार तिथियों का निर्धारण किया गया था लेकिन चुनाव करवाया नहीं जा सका । आखिरकार इसे जनवरी 2022 मे तमाम कोविड प्रतिबंधों  के बीच  करा ही लिया गया ।