तालिबान तोड़ रहा पूर्व फौजियों और अफसरों की कब्रें, जानें क्‍यों कर रहा इतनी क्रुरता

काबुल। अफगानिस्तान (Afghanistan) में सैकड़ों पूर्व फौजियों (ex-servicemen) और अधिकारियों की हत्याओं (killings of officers) के बाद तालिबान(Taliban) ने क्रूरता की हदें पार करते हुए अफगानिस्तान के सैनिकों और जनरलों की कब्रों को नष्ट करना शुरू (began to destroy the graves) कर दिया है।
गंधारा की रिपोर्ट (Gandhara’s report) के मुताबिक, 1990 के दशक में तालिबान (Taliban) से जंग लड़ने वाले अफगान कमांडरों की याद में बने स्मारकों को आतंकी बर्बाद कर रहे हैं। हालांकि तालिबान(Taliban) ने इसकी जिम्मेदारी से इनकार किया है। तालिबानी(Talibani) आतंकियों पर 26 दिसंबर को पाकतिका प्रांत में पूर्व पुलिस कमांडर दराया खान तलाश के मकबरे को बम से उड़ाने का आरोप लगा है। तलाश की साल 2020 में तालिबान की ओर से लगाए बम में विस्फोट से मौत हो गई थी।