टेस्ला की ऑटोपायलट टीम: एलन मस्क ने सिर्फ ट्वीट से कर दी थी इस भारतीय की भर्ती

ह्यूस्टन। सोशल मीडिया के माध्यम से भर्ती करने वाले टेस्ला के संस्थापक और सीईओ एलन मस्क (Tesla founder and CEO Elon Musk) ने खुलासा किया है कि उनकी इलेक्ट्रिक वाहन कंपनी(Electric Vehicle Company) की ‘ऑटो पायलट’ टीम (Auto Pilot Team)के सबसे पहले कर्मचारी भारतीय मूल के अशोक एल्लुस्वामी(First employee of Indian origin Ashok Elluswami) थे.
अपने साक्षात्कार से जुड़े एक वीडियो को लेकर जवाब देते हुए एलन मस्क (Elon Musk) ने ट्वीट कर कहा, ‘अशोक पहले ऐसे व्यक्ति थे जो मेरे ट्वीट के जरिये भर्ती किए गए और इसके साथ ही मैंने कहा कि टेस्ला एक ऑटो पायलट टीम की शुरुआत कर रही है.’
उन्होंने कहा कि असल में, अशोक ऑटो पायलट इंजीनियरिंग के प्रमुख हैं. मस्क ने कहा, ‘ टेस्ला की ऑटो पायलट टीम बेहद कुशल है. इसमें दुनिया के कुछ सबसे कुशल लोग शामिल हैं.’
टेस्ला में शामिल होने से पहले अशोक फॉक्सवैगन की इलेक्ट्रॉनिक अनुसंधान प्रयोगशाला से जुड़े हुए थे. वह चेन्नई के एक इंजीनियरिंग कॉलेज से ‘इलेक्ट्रॉनिक्स एंड कम्युनिकेशन इंजीनियरिंग’ में स्नातक हैं. अशोक ने पेनस्लिवेनिया स्थित कारनेगी मेलोन विश्वविद्यालय से ‘रोबोटिक सिस्टम डेवलेपमेंट’ में परास्नातक की डिग्री हासिल की है.
फोर्ब्स पत्रिका के अनुसार, इलेक्ट्रिक कार निर्माता कंपनी टेस्ला के संस्थापक एलन मस्क दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति हैं.