Forbes 2021:अमरीका की सबसे अमीर 100 सेल्फ-मेड महिलाओं में पांच भारतीयों को मिली जगह

वाशिंगटन। दुनिया में भारतीयों (Indians) का दबदबा अब बढ़ता ही जा रहा है। पुरुषों के साथ कदम से कदम मिलाते हुए महिलाएं भी दुनिया में भारत (India) का नाम रोशन कर रही हैं। अमेरिका की प्रसिद्ध पत्रिका (America’s famous magazine) फोर्ब्स 2021(Forbes 2021) ने अमरीका की सबसे अमीर 100 सेल्फ-मेड महिलाओं (America’s richest 100 self-made women) की सूची जारी की है। इस लिस्ट में पांच भारतीय मूल की महिलाओं (five women of Indian origin) को जगह दी है।
फोर्ब्स 2021 (Forbes 2021) की इस सूची में पेप्सीको की पूर्व चेयरमैन इंदिरा नुई(Indra Nooyi, former chairman of PepsiCo), सिंटेल की को-फाउंडर नीरजा सेठी(Syntel co-founder Neerja Sethi), कॉन्फ्लूएंट की को-फाउंडर नेहा नरखड़े(Neha Narkhade, co-founder of Confluent), एरिस्टा नेटवर्क्स की सीइओ जयश्री उल्लाल (Arista Networks CEO Jayshree Ullal) और गिंगको बायोवर्क्स की को-फाउंडर रेशमा शेट्टी (Reshma Shetty, co-founder of Gingko Bioworks) के नाम शामिल हैं। इस पत्रिका ने इन सब बिजनेस वूमेन की कुल संपत्ति 118 बिलियन डॉलर यानी एक लाख करोड़ रुपए से अधिक आंकी है। अमेरिका में सबसे अमीर सेल्फ मेड महिलाओं में से 26 अब अरबपति हैं, जिनमें दो भारतीय अमेरिकी भी शामिल हैं।

जयश्री उल्लाल, सीइओ, एरिस्टा नेटवर्क्स
जयश्री उल्लाल क्लाउड नेटवर्किंग फर्म एरिस्टा नेटवर्क्स की अध्यक्ष और सीईओ हैं। जयश्री उल्लाल सभी भारतीय अमेरिकी कारोबारी महिलाओं में सबसे अमीर हैं। उनकी कुल संपत्ति 2020 में 1.3 बिलियन डॉलर से बढ़कर 2021 में 1.7 बिलियन डॉलर हो गई है। फोर्ब्स की 2021 की अमेरिका की सबसे अमीर सेल्फ मेड महिलाओं की सूची में पांच भारतीय मूल की महिलाओं में से एक जयश्री उल्लाल ने अरिस्टा नेटवर्क्स का राजस्व 2016 में 1.1 बिलियन डॉलर से 2.2 डॉलर कर दिया। वे वर्ष 2008 से ही कंपनी की सीइओ हैं। जयश्री उल्लाल ने सेंटा क्लेरा यूनिवर्सिटी से इंजीनियरिंग मेनेजमेंट की पढ़ाई की है।

नीरजा सेठी, को-फाउंडर, सिंटेल
नीरजा सेठी एक बिलियन डॉलर की संपत्ति के साथ, फ्लोरिडा में स्थित दूसरी सबसे अमीर भारतीय अमेरिकी व्यवसायी महिला हैं। इन्होंने एक प्रतिष्ठित आईटी कंसल्टिंग और आउटसोर्सिंग कंपनी सिंटेल इंक की स्थापना की थी साथ ही इसकी निदेशक भी रह चुकी है।

नेहा नरखड़े, को-फाउंडर, कॉन्फ्लूएंट
क्लाउड कंप्यूटिंग कंपनी कॉन्फ्लूएंट की को-फाउंडर नेहा नरखड़े ने लिंक्डइन के डेवलपमेंट में अहम भूमिका निभा चुकी हैं। इनकी कुल संपत्ति 925 मिलियन डॉलर है। पुणे यूनिवर्सिटा से इंजीनियरिंग करने वाली नेहा ने लिंक्डइन के डेटा को संभालने के लिए ओपन-सोर्स मैसेजिंग सिस्टम अपाचे काफका को डिजाइन किया था।

रेशमा शेट्टी, को-फाउंडर, गिंगको बायोवर्क्स
रेशमा शेट्टी ग्रेटर बोस्टन क्षेत्र में स्थित एक सिंथेटिक बायोटेक्नोलॉजी कंपनी गिंग्को बायोवर्क्स की सह-संस्थापक हैं। इनकी कुल आय 750 मिलियन डॉलर है। उन्होंने अपने पति बैरी कैंटन के साथ इस कंपनी की शुरुआत की थी। उन्होंने एमआईटी से स्नातक शोध सहायक के रूप में अपनी यात्रा शुरू की और एमआईटी स्कूल ऑफ इंजीनियरिंग के एक पूर्व वरिष्ठ शोध वैज्ञानिक टॉम नाइट की देखरेख में एमआईटी के वैज्ञानिकों के साथ गिंग्को बायोवर्क्स को कोफाउंड किया और इसको इस मुकाम तक पहुंचाया।

इंदिरा नुई, पूर्व सीइओ, पेप्सीको
इंद्रा नुई को किसी परिचय की आवश्यकता नहीं है। इंदिरा नुई 12 वर्ष से अधिक समय तक पेप्सीको की चेयरपर्सन रहीं हैं।  येल यूनिवर्सिटी से एमबीए करने वाली नुई वर्ष 2019 में अमेजन के बोर्ड में शामिल हुईं। इनकी कुल संपत्ति 290 मिलियन डॉलर है।वह 2018 में पेप्सिको के सीईओ के रूप में सेवानिवृत्त हुईं, फिर भी वह एक शक्तिशाली प्रभावशाली व्यक्ति हैं। उन्होंने टाइम मैगजीन और फोर्ब्स की दुनिया की सबसे शक्तिशाली महिलाओं की सूची में कई बार अपना नाम शामिल किया। भारत की मूल निवासी, वह उन दिनों से एक कड़ी मेहनत करने वाली पेशेवर रही है, जब उसने जीवनयापन करने के लिए एक छात्रावास के रिसेप्शनिस्ट के रूप में काम किया था।