सेहत के लिए बेहद लाभकारी है दालचीनी, जानें स्‍वास्‍थ्‍य संबंधी लाभ

नई दिल्‍ली. दालचीनी में एंटी-माइक्रोबियल गुण (Anti-microbial properties) होते हैं जो बैक्टीरिया और कई अन्य वायरस को मारने में सक्षम मानी जाते हैं. जबकि हमारे पूर्वजों ने दालचीनी के जादू को पहचाना था, इसके औषधीय उपयोग पाचन, श्वसन और जीवाणुरोधी बीमारियों (antibacterial diseases) तक ही सीमित थे, लेकिन जैसे-जैसे आधुनिक विज्ञान ने दालचीनी (Cinnamon) की महान शक्ति का पता लगाया तो यह एक औषधीय और स्वादिष्ट मसाले के रूप में उभरा. सिनामाल्डिहाइड, दालचीनी की छाल में पाया जाने वाला मुख्य वाष्पशील तेल है और यह ज्यादातर औषधीय गुणों के लिए जिम्मेदार है. यहां दालचीनी के बारे में कुछ फैक्ट्स बताए गए हैं कि कैसे यह औषधीय मसाला जीवाणुरोधी है.

दालचीनी कैसे है बैक्टीरिया किलर और जीवाणुरोधी
1. दालचीनी के एंटी-माइक्रोबियल गुणों के कारण
दालचीनी बैक्टीरिया और कई अन्य वायरस को मार सकती है. यह बायोफिल्म्स नामक (called biofilms) जिद्दी जीवाणु कॉलोनियों को मार सकता है जो चिकित्सा उपकरणों (medical devices) की सतह पर परत और जमा होती हैं और अस्पतालों में चिकित्सा संचालन को बाधित करती हैं. वास्तव में, अवांछित जीवाणु संदूषण को रोकने के लिए दालचीनी को आपकी डाइट में शामिल किया जा सकता है.

2. एंटी इंफ्लेमेटरी गुणों से भरपूर
इंफ्लेमेशन हमारे शरीर की रक्षा के लिए आवश्यक है लेकिन अनवान्टेड सूजन के उच्च स्तर से अल्जाइमर और कैंसर जैसी पुरानी बीमारियां (diseases) हो सकती हैं. एक एंटी इंफ्लेमेटरी मसाला होने के नाते दालचीनी एराकिडोनिक एसिड जैसे एंटी इंफ्लेमेटरी अणुओं को अवरुद्ध करती है और अनावश्यक सूजन को कम कर सकती है.

3. दालचीनी ई कोलाई बैक्टीरिया को मारती है
कई अध्ययनों से पता चलता है कि दालचीनी ई कोली बैक्टीरिया से रक्षा करती है, जो भोजन की विषाक्तता और बीमारियों का कारण बनती है जिसके परिणामस्वरूप पेट की बीमार और परेशानी होती है.

दालचीनी के अन्य लाभ
महिला हार्मोन चक्र को विनियमित करना: कोलंबिया विश्वविद्यालय, न्यूयॉर्क के शोधकर्ताओं द्वारा किए गए एक अध्ययन में, यह पाया गया कि दालचीनी पॉलीसिस्टिक डिम्बग्रंथि सिंड्रोम (पीसीओएस) वाली महिलाओं में मासिक धर्म की नियमितता में सुधार करती है.

ब्रेन बूस्टर:
दालचीनी याददाश्त में सुधार करती है और मस्तिष्क में ऑक्सीडेटिव तनाव को कम करने के लिए जानी जाती है, जिससे संज्ञानात्मक कार्य में सुधार होता है.

एलडीएल को कम करता है:
दालचीनी के सबसे गहरे लाभों में से एक खराब कोलेस्ट्रॉल (एलडीएल) को कम करने और अच्छे कोलेस्ट्रॉल को बनाए रखने की क्षमता है. दालचीनी ब्लड प्रेशर और ट्राइग्लिसराइड्स को कम करती है जिससे हृदय स्वास्थ्य सुनिश्चित होता है.

डायबिटीज को कंट्रोल करता है:
कई अध्ययनों से साबित होता है कि दालचीनी टाइप 2 डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करती है. माना जाता है कि 4 महीने तक एक दिन में आधा चम्मच से भी कम दालचीनी रक्त शर्करा के स्तर को कम कर सकती है और इंसुलिन संवेदनशीलता में सुधार कर सकती है.

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य जानकारी के लिए हैं हम इसकी सत्‍यता व सटीकता की जांच का दावा नही करते हैं। कोई भी सवाल या परेशानी हो तो डॉक्‍टर की सलाह जरूर लें।