किम जोंग-उन ने अर्थव्यवस्था में सुधार का लिया संकल्प, एटमी हथियारों और अमेरिका के मुद्दे दरकिनार

सियोल। उत्तर कोरियाई सरकारी मीडिया (North Korean state media) ने बताया कि देश के नेता किम जोंग उन (Kim Jong Un) ने इस सप्ताह एक प्रमुख राजनीतिक सम्मेलन में अपने भाषण के दौरान सैन्य क्षमता को मजबूत (strengthen military capability) करने के साथ घरेलू विकास (domestic development) और कोरोना रोधी उपायों पर जोर (Emphasis on anti-corona measures) दिया। किम जोंग उन (Kim Jong Un) ने देश की अर्थव्यवस्था में सुधार का संकल्प (resolve to improve the economy) भी लिया लेकिन उन्होंने पूरे भाषण में एटमी हथियार (nuclear weapons) अथवा अमेरिका (US) व दक्षिण कोरिया(South Korea) पर खामोशी बरती।
कुछ विशेषज्ञों ने बताया, इसका अर्थ है कि किम जोंग को अमेरिका से जल्द वार्ता फिर शुरू करने में कोई दिलचस्पी नहीं है और वे देश को महामारी की कठिनाइयों से निकालकर आत्मनिर्भर अर्थव्यवस्था की ओर ले जाना चाहते हैं। उत्तर कोरियाई नेता ने अपने शासन के 10 साल पूरे होने के मौके पर शनिवार को अपने संबोधन में एटमी हथियारों या अमेरिका की तुलना में घरेलू विकास, कारखानों और स्कूल यूनिफॉर्म पर जोर दिया।
कोरिया वर्कर्स पार्टी की आठवीं केंद्रीय समिति की बैठक के आखिरी दिन उन्होंने कहा, 2022 में उत्तर कोरिया का मुख्य लक्ष्य आर्थिक विकास और लोगों के जीवन में सुधार लाना होगा, क्योंकि लोग जीवन और मौत के बीच संघर्ष का सामना कर रहे हैं। इससे पहले वर्ष के अंत में किम जोंग आमतौर पर अपने भाषण में अमेरिका, दक्षिण कोरिया या एटमी हथियारों पर टिप्पणी करते रहे हैं।

आर्थिक संकट के दौर में उत्तर कोरिया
विशेषज्ञ मानते हैं कि किम जोंग के भाषण का इस तरह घरेलू मामलों पर केंद्रित होना उत्तर कोरिया के आर्थिक संकटों को दर्शाता है। उत्तर कोरिया ने महामारी रोकने के लिए सीमा पर लगाए गए लॉकडाउन से खुद को शेष विश्व अलग-थलग कर लिया है। किम जोंग ने कहा, हमें लोगों को 2022 में पंचवर्षीय योजना लागू करने की गारंटी देना है और राष्ट्रीय विकास तथा लोगों के जीवन में उल्लेखनीय बदलाव लाना है।